केजरीवाल को 'आतंकी' कहे जाने पर मैदान में उतरी बेटी हर्षिता, दिया करारा जवाब

दिल्ली में चुनाव की तारीखें जैसे-जैसे नजदीक आ रही है मुकाबला और दिलचस्प होता जा रहा है. जुबानी तल्खियां बढ़ती जा रही है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर बीजेपी पहले से ही अपने कड़े तेवर अपनाई हुई है. बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने केजरीवाल को एक चुनावी सभा में आतंकवादी बता दिया था. इस बयान का चौतरफा विरोध हुआ. आम आदमी पार्टी ने भी इस मुद्दे को बड़े जोर-शोर से उठाया और भुनाने की कोशिश की.

तब लगा था प्रवेश वर्मा ने यूँ ही जोश में आकर केजरीवाल को आतंकी कह दिया होगा. चुनावी सभा में कई बार नेताओं से जोश-जोश में ऐसी बातें निकल जाया करती है. लेकिन, बीजेपी के नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रवेश वर्मा के आतंकी वाले वक्तव्य को हाल ही में जब दोहराया तब मालूम हुआ पड़ा कि बीजेपी इस मुद्दे पर फूल आँन बैटिंग करने के मूड में है.

बीते सोमवार को केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि केजरीवाल मासूम चेहरा बना रहे हैं और लोगों से पूछ रहे हैं कि क्या वो आतंकवादी हैं? 'आप (केजरीवाल) आतंकवादी हो और इसके बहुत सारे सबूत हैं.' जावड़ेकर ने कहा कि आप (केजरीवाल) ने खुद कहा है कि आप अराजकतावादी हो. आतंकवादी और अराजकतावादी में ज्यादा अंतर नहीं होता.

बीजेपी के इस आतंकी वाले बयान पर केजरीवाल पहले से ही चुनावी सभा में लोगों से कह रह रहे हैं "बीजेपी वाले मुझे आतंकी कह रहे हैं आप लोग वोट के माध्यम से उन्हें करारा जवाब दें. लेकिन, अब केजरीवाल का परिवार भी इस मुद्दे को लेकर मैदान में आ गये हैं.

हर्षिता केजरीवाल का करारा जवाब

अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता केजरीवाल ने आज ( बुधवार) को न्यूज़ एजेंसी ANI को दिए गये बयान में कहा कि " राजनीति गन्दी है लेकिन यह एक नया स्तर है. क्या लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधा देने वाला आतंकवादी हो सकता है. क्या बच्चों को शिक्षित करने वाला आतंकवादी हो सकता है. क्या बिजली और पानी की आपूर्ति में सुधार करने वाला आतंकवादी हो सकता है."

हर्षिता कहती हैं "मुझे अभी भी याद है कि हर रोज जब हम जगाते थे तो मेरा भाई, माता, दादा-दादी और मैं, सुबह 6 बजे भगवद् गीता पढ़ते हैं और इंसान से इंसान का हो भाईचारा गीत गाते हैं. हमें इसके बारे में पढ़ाया भी जाता है. क्या यह आतंकवाद है?"

हर्षिता केजरीवाल ने कहा, बीजेपी को आरोप लगाने दो. उन्हें 200 सांसद और 11 मुख्यमंत्री लाने दो. केवल हम ही नहीं, बल्कि 2 करोड़ आम लोग भी चुनाव प्रचार कर रहे हैं. दिल्ली की जनता 11 फरवरी को फैसला करेगी कि क्या वह आरोपों पर वोट करते हैं या फिर काम पर.

बेटी हर्षिता से पहले पत्नी सुनीता केजरीवाल भी आतंकी वाले बयान को लेकर आहत दिखी थी. मंगलवार को सुनीता केजरीवाल ने कहा था कि "दिल्ली की जनता देख रही है कि हम पर कैसे-कैसे आरोप लगाए जा रहे हैं. यह बहुत निराशाजनक है कि आरोप उस व्यक्ति पर लगाए जा रहे हैं जो इतनी मेहनत से काम कर रहा है". आप को बता दें की दिल्ली में 8 फरवरी को वोटिंग है जिसके परिणाम 11 फरवरी को आयेंगे.

गोपाल जैसे सनकी उन्मादी इस देश में हजारों में नहीं लाखों की संख्या में हैं

देश का द्वेष

ऐसे कैसे यूँ ही हार जाएं हम!

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Praful Shandilya

praful shandilya is a journalist, columnist and founder of "The Nation First"

Leave a Reply