कविता

तेरे प्यार का सुर लेकर संगीत बनाएंगे

जो गीत नहीं जन्मा, वो गीत बनाएंगे। तेरे प्यार का सुर लेकर संगीत बनाएंगे। कोई  सुख भी नहीं अपना! कोई दुःख भी नहीं अपना! दुनिया जिसे कहती है, एक सुंदर सपना। इसे साथ लेकर अपने लवों से सजायेंगे। जो गीत नहीं जन्मा,वो गीत बनाएंगे। रह जाये तो रास्ता है,मिल जाये तो मंजिल है। जो प्यार […]

कविता

आओ बैठ लें कुछ देर

आओ बैठ लें कुछ देर, आओ निर्विचार हो लें। भुला दें कुछ देर खुद को, जगत को; यहाँ की आपाधापी को। कुछ देर खो जाएँ, धूप में;कुदरती प्रेम में, फिर यह समय मिले न मिले। आओ बैठ लें कुछ देर, आओ निर्विचार हो लें। भावों का यह सुंदर फूल, फिर खिले न खिले। आओ बैठ […]

कविता

तनहाई

कभी-कभी तनहाई में,   यादों की परछाई में, तुम बहुत याद आते हो।  तुम इतने प्यारे हो कि, आज भी तुम्हीं भाते हो।    यह तनहाई ही है, जो तुम्हारी याद दिलाती है,  वरना व्यस्त दिनचर्या में, फुर्सत कहाँ मिल पाती है।        तुम न सही,    तुम्हारी याद तो है, तुम्हारे साथ […]

जरा हटके

मच्छरों ने किया जीना मुहाल

जी हाँ! एकदम सही पढ़ रहे हैं आप। आइये,आज आपको कहानी सुनाते हैं एक ऐसे गाँव की;गाँव के निवासियों की,जहाँ के लोग रात में मच्छरों के कारण सो नहीं पाते हैं। आपके मन में प्रश्न उठ रहा होगा कि मैं कैसे जानता हूँ?गाँव का नाम क्या है?क्यों इतने मच्छर हैं,जिसके कारण लोग सो नहीं पाते […]