ये हैं 3 वजहें जिनसे आप समझ जाएंगे कि फिल्म पद्मावती का सभी विवाद मात्र एक प्रोमोशन स्टंट है

संजय लीला भंसाली की महत्वकांक्षी फिल्म पद्मावती का फर्स्ट लुक गुरुवार 21 सितंबर को नवरात्र के पहले दिन माँ दुर्गा की स्थापना के साथ ही रिलीज कर दिया गया। लेकिन रिलीज के कुछ छनों बाद ही इसका विरोध होने लगा । और विरोध करने वाले फिर से वहीं लोग हैं . वही करणी सेना.. राजपूत समुदाय का संगठन श्री राजपूत करणी सेना जो इस साल जनवरी में जयपुर में हो रहे फिल्म पद्मावती के सेट पर पहुँचकर तोड़ फाड़ करते हैं और तो और फ़िल्म के डायरेक्टर साहब को भी दो तीन लगा देते हैं।

और वो भी किस बात को लेकर साहब कि फ़िल्म में राजपूतों को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। उनके मुताबिक अलाउद्दीन खिलजी और चित्तौड़ की रानी पद्मिनी के बीच कुछ रोमांटिक सीन फिल्माया जा रहा था जिससे राजपूती कूल की गरिमा धूमिल होती। इस विवाद ने जनवरी में अंधेरे में खोई फ़िल्म पद्मावती को एकाएक जगमगाती रोशनी की चकाचौंध में लाकर खड़ा कर दिया।

यह भी पढ़ें: रानी पद्मावती पधार रही है.. गुरुवार को होगा फ़िल्म का फर्स्ट लुक रिलीज

फ़िल्म को मीडिया की खूब सुर्खियां मिली. तरह तरह के हेडलाइंस बने। कई दिनों तक प्राइम टाइम पर डिबेट हुए कि कैसे कोई इतने बड़े सख्सियत को दो चार लगाकर चला जाता है वो बिना कोई आधार के की जो बातें वो सुना या कह रहा है वो सही है कि नही। और इस बार भी यही हो रहा है . फ़िल्म का फर्स्ट लुक रिलीज हुआ है इतने बड़े डायरेक्टर की फ़िल्म है मीडिया की लाइम लाइट नही मिलेगी और लोग इस पर चर्चा नही करेंगे तो फ़िल्म तो दब के रह जायेगा तो एक धमाका चाहिए ना भई। इसीलिए एक बार फिर उसी करणी सेना की इंट्री हुई बिना कोई आधार के साथ।

फिल्मों को लाइम लाइट में लाने के लिए ये सब पहले से ही सुनियोजित होता है नही तो भैया इतने बड़े डायरेक्टर को ऐसे ही कोई दो-तीन नही लगा सकता। अगल बगल में हर समय उनके प्राइवेट बॉडीगार्ड्स होते हैं जिन्हें डिफेंस में शूट करने का राइट है। और तो और फ़िल्म की शूटिंग के लिए जिला प्रशासन के तरफ से भी कड़ी सुरक्षा मुहैया कराई जाती है और इतने पर भी कोई उसे भेद कर डायरेक्टर तक पहुंच जाए ये तो सोंच के परे है। और इतना कुछ हो जाने के बाद भी डायरेक्टर साहब की तरफ से कोई एफआईआर नही हो तो आप थोड़ा नही पूरा समझ गए होंगे कि ये माजरा क्या है!

आप इस बारे में क्या सोचते हैं हमें नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं

Facebook Comments

Praful Shandilya

praful shandilya is a journalist, columnist and founder of "The Nation First"

Leave a Reply