बुराड़ी कांड: रजिस्टर में लिखी बातें और मौत के तरीकों में है काफी समानता
जुर्म

बुराड़ी कांड: रजिस्टर में लिखी बातें और मौत के तरीकों में है काफी समानता

पूरे देश को हिला देने वाला बुराड़ी कांड मामला दिन-ब-दिन और पेचीदा होता जा रहा है. दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत से जहाँ एक ओर पूरा देश दहल गया है वहीं दूसरी ओर इस मामलें की जाँच में जुटी पुलिस को मौकास्थल पर कुछ ऐसे सबूत हाथ लगे हैं जिससे ये मामला थोड़ा और उलझ गया है.

जांच के दौरान पुलिस को घर के अंदर एक रजिस्टर में कुछ नोट्स लिखे मिले हैं जो मामले को एक नया मोड़ दे रहा है. इस नोट्स में धर्म और आध्यात्म से जुड़ी रहस्यमयी बातें लिखी हुई है. पुलिस के मुताबिक नोट्स में लिखी बातें और मौत के तरीकों में काफी समानता है.
नोट्स में काफी अजीबोगरीब बातें लिखी हुई है जैसे कि "मोक्ष्य के लिए मौत ही एक द्वार है, अगर मोक्ष्य पाना है तो जीवन को त्यागना ही होगा, जीवन को त्यागने के लिए मौत को गले लगाना ही होगा. मौत को गले लगाना कष्टदायक है पर यदि कष्ट से छुटकारा पाना है तो आँखे बंद करनी ही होगी"

इस आधार पर पुलिस इस मामले को टोटका, तंत्र-मंत्र, और अन्धविश्वास से जोड़कर देख रही है . नोट्स में जिस तरह मौत की विधि लिखी हुई है ठीक उसी प्रकार परिवार के सभी लोगों की मौत हुई है. रजिस्टर में लिखे नोट्स में मौत की विधि कुछ इस प्रकार लिखी हुई है... "पट्टियां अच्छे से बांधनी है...शून्य के अलावा कुछ नहीं दिखना चाहिए..रस्सी के साथ सूती चुन्नियां या साड़ी का प्रयोग करना है."

सूत्रों के मुताबिक रजिस्टर में इस बात का जिक्र है कि कहाँ कौन मरेगा ? दरवाजा के पास कौन लटकेगा या बेडरूम में कौन मरेगा ? और ठीक उसी प्रकार सभी लाशें लटकी पाई गयी है.

हलाकि परिजनों ने धार्मिक, आध्यात्मिक, मंत्र टोटका या किसी अन्धविश्वास को मौत का कारण मानने से साफ़ इनकार किया है . उनका कहना है कि वो लोग काफी पढ़े-लिखे इंसान थे कोई अन्धविश्वासी नही.

बता दें कि रविवार की सुबह को बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोग मृत पाए गए थे जिसमें 7 पुरुष और चार महिलाएं थी मरने वालों में 77 साल की एक वृद्ध महिला फर्श पर मृत पाई गईं थी.

3,957 total views, 1 views today

Facebook Comments

Leave a Reply