दुनिया देश मनोरंजन

#Metoo के जाल में फंसे कई सेलिब्रिटी, कईयों की पोल खुलनी बाकी

आजकल सबसे ज्यादा कोई शब्द चर्चा में है तो वह है #Metoo हैशटैग मीटू. मी टू हैशटैग विश्व के पचासी से अधिक देशों में चल रहा है जिसके  चपेट में बड़ी बड़ी  हस्तियाँ आती जा रही है. लेकिन बहुत कम ऐसे लोग हैं जो जानते हैं कि यह मी टू क्या है?.

क्या है #Metoo:-

हैशटैग लगानें का सीधा मतलब उसे ज्यादा लोगों तक लोकप्रिय करनें से होता है. ट्विटर पर हैशटैग ज्यादा यूज होता है. मी टू महिलाओं के साथ उनके कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न और यौन हमले के खिलाफ चलाया जा रहा एक प्रकार का आंदोलन है .10 अक्टूबर 2017 को न्यूयार्क टाइम्स में छपे खबर में एक साथ 13 महिलाओं नें मशहूर हॉलीवुड प्रोड्यूसर हार्वी वाइन्सटाइन के खिलाफ यौन दुर्व्यवहार के गंभीर आरोप लगाए. और फिर यहीं से शुरू हुआ मीटू का सफर.

इस आंदोलन के तहत पहली बार सजा अमेरिका के टीवी कलाकार बिल कॉस्बी को मिली जब उन्हें 10 साल के लिए जेल भेज दिया गया.  इसके बाद विश्व की महिलाओं ने खुद पर हुए यौन उत्पीड़न और यौन हमले के खिलाफ आवाज बुलंद करना शुरू किया.

भारत में #Metoo

वैसे तो आंदोलन विदेशों में काफी पहले से चल रहा है लेकिन भारत में इसकी शुरुआत तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर आरोप लगाकर किया. जिसके बाद एक एक कर बड़ी-बड़ी हस्तियों के नाम लाइट में आने लगे. भारत में अब तक एक दर्जन से ज्यादा सेलिब्रिटी इसका शिकार हो चुके हैं.तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर यौन हमले का आरोप लगाया था.  तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर उस समय फिल्म हौर्न ओके प्लीज के आइटम नंबर की शूटिंग कर रहे थे जिसके कोरियोग्राफर गणेश आचार्य थे

.

तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर उन्हें गलत तरीके से छूने का आरोप लगाया.  उन्होंने कहा कि जब वह डांस कर रही थी तभी नाना पाटेकर उन्हें बाहों में भर कर डांस सिखाने लगे. नाना पाटेकर को अपने क्लोज देखकर तनु डर गई और भाग के वैनिटी वैन में चली गई. जब इस मामले में उनकी मां को चला तो उन्होंने नाना पर एफआईआर दर्ज करवा दिया. लेकिन जब तनुश्री से पुलिस ने इस मामले में पूछताछ कि तो उस समय कुछ नहीं बोली. लेकिन मी टू आंदोलन शुरू होने के बाद तनुश्री ने फिर से नाना पाटेकर पर उन्हें गलत तरीके से छूनें का आरोप लगाया.

 नाना पाटेकर के बाद केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर पत्रकार प्रिया रामानी, फोर्स पत्रिका के कार्यकारी संपादक गजाला वहाब, अमेरिकी पत्रकार मजली डे और इंग्लैंड की पत्रकार डेविड के साथ साथ 16 और महिला पत्रकारों ने अनुचित व्यवहार और यौन शोषण का आरोप लगाया जिसके बाद एमजे अकबर को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.  हालांकि अकबर अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर रहे हैं और खुद को बेगुनाह साबित करने के लिए उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

अकबर के  बाद नंबर आता है फिल्म निर्माता विकास बहल का जिन पर फैंटम फिल्म के एक कर्मचारी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया.  लेकिन पीड़िता ने कोर्ट में अपना बयान देने से इंकार कर दिया. वह कोर्ट पहुंची ही नहीं.  वहीं पीड़िता अब भी कह रही है कि विकास बहल के कारण मेरी लाइफ बर्बाद हो गई.  इस मामले के बाद विकास बहल की प्रोडक्शन हाउस फैंटम को खत्म कर दिया गया और फिर उन्हें अमेज़न के प्रोजेक्ट से भी हाथ धोना पड़ा.

मशहूर लेखक चेतन भगत भी इन आरोपों से अपनें आप अलग नहीं रख पाए. उनपर योगा टीचर इरा त्रिवेदी ने यौन शोषण का आरोप लगाया . हालांकि आरोप लगने के बाद चेतन भगत नें अपनी गलती मानते हुए इरा त्रिवेदी से माफी मांगी.  लेकिन साथ हीं उन्होनें इरा त्रिवेदी पर पलटवार करते हुए उनका एक ईमेल शेयर किया जिसमें इरा लिखती हैं 'आई मिस यू,  किस यू' अब आप समझ सकते हैं कि कौन किसे 'किस' करना चाहता है.

फेमस सिंगर कैलाश खेर  पर भी कई महिलाओं ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया.  कैलाश खेर पर पहला आरोप 'सा रे गा मा पा' शो की जज सिंगर सोना महापात्र ने लगाया. उन्होंने कहा कि हमारी मुलाकात पृथ्वी कैफे के एक रिकॉर्डिंग के दौरान हुई था जहां खेर ने मुझे टच करने की कोशिश की और उसके बाद उन्होंने मुझे कमरे में बुलाया था.

इसके बाद रजत कपूर भी #मीटू के मकरजाल में फंस गए.  उनपर दो महिलाओं ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. रजत कपूर पर एक महिला पत्रकार ने आरोप लगाया कि जब वह उनसे टेलिफोनिक इंटरव्यू ले रही थीं तब उन्होंने गंदी भाषा का प्रयोग किया.  जिसके मुंबई एकेडमी ऑफ मूवीस नें उन्हें उनके फिल्म 'खड़ग' को हटाकर बड़ा झटका दिया. फैंटम जैसी बड़ी  प्रोडक्शन कंपनी मीटू के आरोपों के कारण ही टूट गई.

मीटू के जंजाल में फसने वाले सबसे ताजा सेलिब्रिटी है सोनी टीवी पर आने वाले शो इंडियन आईडल 10 के मशहूर जज  सिंगर अन्नू  मलिक. उन पर सिंगर श्वेता पंडित ने आरोप लगाया कि 2001 में जब वह 15 साल की थी तो वो  एक म्यूजिक ऑडिशन के लिए गई थीउस समय  अन्नू  ने कहा था  की अगर वो उन्हें किस करेगी तो शान और सुनिधि चौहान के साथ काम करने का मौका दिलाएंगे.

मीटू के आन्दोलन का असर है कि नेटफ्लिक्स ने सैक्रेड गेम्स सीजन 2 फिलहाल रोक दिया है. मशहूर अभिनेत्री नंदिता दास, जोया अख्तर, मेघना गुलजार, कोंकणा सेन शर्मा और गौरी शिंदे जैसी 11 महिला फिल्मकारों ने उन कलाकारों के साथ काम ना करने का ऐलान किया है जो मीटू के गुगली में फंस चुके हैं.

यौन शोषण के आरोपों के कारण AIB ने अपने वह सारे एपिसोड इंटरनेट से हटा लिए  जिसमें वह कॉमेडियन शामिल था जिस पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे थे. इसके दो बड़े कॉमेडियन की छुट्टी हो गई और हॉटस्टार ने ऑन एयर विद एआईबी सीजन 3 की रिलीजिंग पर रोक लगा दी.

इस आरोप से मीडिया वर्ग भी अछूता नहीं रहा. देश के नामी अखबार  हिंदुस्तान टाइम्स के राजनीतिक संपादक प्रशांत झा, टाइम्स ऑफ इंडिया के रेजिडेंट एडिटर श्रीनिवास और बिजनेस स्टैंडर्ड के पत्रकार मयंक जैन को भी मीटू के आरोपों के कारण इस्तीफा देना पड़ा. टाइम्स ऑफ इंडिया के एक्सक्यूटिव एडिटर गौतम अधिकारी को अमेरिकन थिंक टैंक की टीम से बाहर होना पड़ा. ना जाने और कितने सेलेब्रिटी इस मीटू के भंवर में फंस कर बर्बाद हो जायेंगे.

यह भी पढ़ें : अपनी प्रेमिका को प्रपोज करने में जब शशि कपूर के फूल गये थे हाथ पैर

लेकिन इतना तो तय है कि इस कैंपेन के बाद महिला अधिकारों को लेकर जागरूकता बढ़ेगी और देश  में महिलाओं के यौन उत्पीड़न जैसी घटनाएं कम होंगी. फिल्म और मीडिया जगत के बाद खेल जगत भी मीटू के कटघरे में आ चुका है. बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी पर एक महिला ने यौन संबंध के आरोप लगाए थे वहीं दुनिया के नामी फुटबॉलर पुर्तगाल के क्रिस्टीयानो रोनाल्डो को  उनकी नेशनल टीम ने इसलिए निकाल दिया क्योंकि उन पर तीन महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए थे.

जिस रफ्तार से यह आगे बढ़ रहा है आने वाले समय में कई और खुलासे होंगे. लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि इसका मिसयूज भी संभव है. बॉलिवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत पर एक फिल्म के दौरान अपनी हीरोइन के साथ बदतमीजी का आरोप लगा लेकिन बाद में उस अभिनेत्री नें खुद आकर राजपूत को क्लीन चिट दे दी.

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply