इतिहास के पन्नों से

मेजर सोमनाथ शर्मा ! शौर्य और पराक्रम का एक अनोखा संगम

आज कश्मीर का जो हिस्सा भारत के पास है, उसका श्रेय जिन वीरों को जाता है, उनमें से मेजर सोमनाथ शर्मा का नाम अग्रणी है । 31 जनवरी, 1923 को ग्राम डाढ (जिला धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश) में मेजर जनरल अमरनाथ शर्मा के घर में सोमनाथ का जन्म हुआ। सैनिक परिवार में जन्म लेने के कारण […]

939 total views, 20 views today

इतिहास के पन्नों से

प्राणसुख यादव: एक महान योद्धा जिसे हम भुल गए

यादव कूल ने हमेशा से भारत की भूमि की रक्षा की है । इनके शौर्य,अनुशासन,और कर्तव्य निर्वहन की अद्वितीय क्षमता ने हमारे समाज को हमेशा ही जगाए रखा है । इसी कूल में जन्म हुआ एक ऐसे विलक्षण प्रतिभा का जिनमें साहस और अपनी मिट्टी से प्यार कुट कुटकर भरा हुआ था। 6 फुट के […]

3,037 total views, 10 views today

इतिहास के पन्नों से राजनीति

जब जनसंघ ने कांग्रेस से हिंदूवादी पार्टी होने का तमगा छीन लिया था

कांग्रेस के इतिहास को अगर खंगाला जाए तो पता चलता है की कोंग्रेस अपने जन्म  से हिन्दू समर्थक होने का तमगा  ले कर  घूमती  रही थी  क्योंकि हिन्दू समर्थक होने के कारण ही इस पार्टी ने बहुत कुछ खो दिया, मोहम्मद अली जिन्ना जैसा नेता इस पार्टी का धुरविरोधी बन गया जो कभी कदम से […]

1,200 total views, 14 views today

इतिहास के पन्नों से जरा हटके राजनीति

क्या है आरक्षण का इतिहास, देश में पहली बार कब लागु हुआ था आरक्षण

भारत  एक ऐसा देश है जहां की राजनीति जातीवाद और आरक्षण से शुरू होती है और उसी के गलीयारे मे  दम भी तोड़  देती है । पार्टी कोई भी हो उसका चुनावी मुद्दा मात्र जातीवाद और आरक्षण से ही शुरू होती है और तमाम चुनावी वादे भी कहीं न कहीं इसी के परिधी मे घुमती […]

14,131 total views, 16 views today

इतिहास के पन्नों से जरा हटके राजनीति

कौन है प्रवीण तोगड़िया और क्यों बना वाजपेयी और मोदी का धुरविरोधी

प्रवीण तोगड़िया का जन्म 1956 में गुजरात के अमरेली में एक किसान परिवार हुआ था और इनकी शिक्षा अहमदाबाद में पूरी हुई । कहा जाता है कि जब ये छोटे थे तब इन्हें सोमनाथ मंदिर जाने का अवसर प्राप्त हुआ लेकिन जब इन्होंने उस मंदिर के टूटे हुए अवशेषों को देखने के बाद उन्हें हिन्दुत्व […]

2,327 total views, 20 views today

इतिहास के पन्नों से

इनाम और उपाधियों के चक्कर में शायर मिर्जा गालिब अंग्रेजों के चाटूकार बन बैठे थे

हमारे देश मे काफी तादाद में शायर और ग़ज़लकार हुए जिन्हें इस देश की जनता ने खूब प्यार दिया और उनके प्यार का ही नतीजा होता है कि वो आसमान की बुलन्दियों पर होते हैं और उस शायर के  शायरी और ग़ज़ल से आप भी अपनो को खुश करने का हर संभव प्रयास करते हैं […]

786 total views, 8 views today

इतिहास के पन्नों से जरा हटके

1857 की वो क्रांतिकारी जो दिन में अंग्रेजो से लड़ती और रात में उन्हीं के छावनियों में नाचती थी

1857 की क्रांति तो आप सबों ने पढ़ा ही होगा इस क्रांति को किसी ने धार्मिक क्रांति ,किसी ने सामाजिक क्रांति तो किसी ने इसे सिपाही विद्रोह कह कर संबोधित किया था साथ ही विद्वानों का ये भी मानना था कि अगर यह विद्रोह टुकड़ों में ना होकर एक साथ लड़ा जाता तो शायद देश […]

1,598 total views, 19 views today

इतिहास के पन्नों से

अंग्रेजो पर विश्वास करने वाले इन कांग्रेसी नेताओं को जब डफरिन ने दिया था जोर का झटका

भारत की राजनीति और उसके इतिहास में कई नेताओं ने अपनी अलग अलग पहचान बनाई है जिसमे कइयों की पहचान काफी अच्छे और लोकप्रिय नेता के रूप में किया जाता है तो कुछ ऐसे नेता हुए जिन्हे जनता याद तो दूर की बात है सपने में भी नही देखना चाहती लेकिन मजे की बात तो […]

620 total views, 9 views today

इतिहास के पन्नों से

देश के कुछ दिग्गज नेता ही अंग्रेजी हुकूमत के प्रति नही थे एक मत

भारतीय राजनीति में नेता कभी भी एक मत नही रह पाते हैं समय और परिस्थिति के अनुसार वो रंग बदलने में गिरगिट को भी पीछे छोड़ देते हैं बस उन्हें इंतज़ार होता है तो सही मौके का जिसका वो जम कर फायदा उठा सकें | हम बात करने वाले हैं इतिहास के सबसे बड़े और […]

576 total views, 11 views today

इतिहास के पन्नों से खेल

अफ्रीकन पेस बैट्री को 'डाउन' कर सहवाग नें डेब्यू में जड़ा था शतक

2001 के आखिरी महीनों में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर थी। पहला टेस्ट 3 नवंबर से ब्लूमफोंटेन में शुरू हो रहा था। मेजबान कप्तान शान पोलाक नें उछाल भरी तेज पिच पर टास जीतकर पहले फील्डिंग करनें का फैसला किया। भारतीयों के लिए परिस्थितियाँ बिल्कुल अलग थी. पिच पर घास नजर आ रही […]

2,804 total views, 12 views today