इतिहास के पन्नों से

जब कलाम साहब ने स्पेशल गेस्ट के तौर पे एक मोची को बुलाया था

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम यानि एक ऐसे व्यक्ति जो वाकई में कमाल के थे आज कलाम साहब का पूण्यतिथि तिथि है आज ही के दिन यानि 27 जुलाई 2015 की शाम अब्दुल कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में 'रहने योग्य ग्रह' पर एक व्याख्यान दे रहे थे जब उन्हें जोरदार कार्डियक अरेस्ट (दिल का दौरा) हुआ और ये बेहोश हो कर गिर पड़े। लगभग 6:30 बजे गंभीर हालत में इन्हें बेथानी अस्पताल में आईसीयू में ले जाया गया जहाँ उन्होंने अपनी अंतिम सांसे ली और देश ही नहीं अपितु पुरे विश्व ने एक मसाल को खो दिया |

वैसे आप लोग तो कलाम साहब के जीवन से जुड़ी बहुत सारी बातें जानते होंगे लेकिन कुछ ऐसी भी अनकहीं बातें हैं जो शायद ही आप को पता हो तो आइये मिसाइल मैन के पुण्यतिथि पर कही अनकही बातें जान कर उन्हें श्रधांजलि दें |

कलाम साहब अपनी मिट्टी से इतने जुड़ें हुए थे कि भारत रत्न मिलने और राष्ट्रपति बनने के बाद भी वो अपने बचपन के दिनों के मित्रों और पड़ोसियों को भुला नहीं पाए बात उन दिनों की है जब कलाम साहब राष्ट्रपति बने और राष्ट्रपति बनने के कुछ दिन बाद वो किसी इवेंट में शरीक होने केरला राज भवन, त्रिवेंद्रम गए। जहाँ उनके पास अपनी तरफ से किन्ही दो लोगों को बुलाने का अधिकार था, और आप जान कर हैरान होंगे कि उन्होंने किसे बुलाया- एक मोची को और एक छोटे से होटल के मालिक को। दरअसल, डॉ. कलाम बतौर वैज्ञानिक काफी समय त्रिवेन्द्रम में रहे थे, और तभी से वे इन लोगों को जानते थे, और किसी नेता या सेलेब्रिटी को बुलाने की बजाये उन्होंने इन आम लोगों को इम्पोर्टेंस दी,ऐसे थे हमारे कलाम साहब |

वाकई में कलाम साहब जैसे व्यक्ति का इस धरती पर जन्म लेना हमारे देश के लिए गौरव की बात है हम उन्हें शत-शत नमन करते हैं और उनके जीवन से प्रेरणा लेते हुए हम इस जीवन को सार्थक बनाने का प्रयास करते हैं।

488 total views, 6 views today

Facebook Comments

Leave a Reply