जरा हटके देश

अयोध्या की धरती पर विराजेंगे भगवान राम, योगी आदित्यनाथ करेंगे स्वागत

2017 का वो दृश्य जो देश और दुनिया के आकर्षण का केंद्र बना था, सरकार उसी दृश्य को और भी शक्तिशाली बनाने के लिए तैयार है, 2017 की वो दीवाली जिसने इतिहास रच दिया था, योगी सरकार उसी इतिहास को फिर दौहराएगी. पिछली बार अयोध्या में जितने दीये जले थे, इस बार योगी आदित्यनाथ पिछली बार से दोगुना ज्यादा ज्यादा दीये जलाने की तैयारी में है. इस बार अयोध्या तीन लाख से ज्यादा दीयों की रोशनी से जमगाएगा. अयोध्या की दहलीज़ पर इस बार भगवान राम कदम रखेंगे तो अयोध्या का आंगन अपने आप पर इतरा रहा होगा.

क्योंकि यूपी सरकार वो इतिहास बनाने जा रही है जो इतिहास में कभी पहले नहीं हुआ... इससे पहले भी अयोध्या में ही पिछले साल सबसे ज्यादा दीये जलाए गए थे, दीप जलाने का रिकॉर्ड गिनीज बुक में दर्ज किया गया था...अब योगी सरकार अपना ही रिकॉर्ड को तोड़कर नया कीर्तिमान रचने जा रही है...इस बार अयोध्यावासी पहले से ज्यादा उत्साहित हैं, इस बार योगी आदित्यनाथ अयोध्या आएंगे लेकिन इस बार अयोध्या रोशनी में नहाया हुआ होगा.

रिकॉर्ड बनाएगा अयोध्या का आंगन

अयोध्या में राम की पैड़ी पर 3 लाख से ज्यादा दीयों की रोशनी जगमगाएगी तो वहीँ वाटर शो देशी-विदेशी पर्यटकों और श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र रहेगा, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में फिर से अयोध्या का नाम दर्ज होगा, लंका विजय के बाद पुष्पक विमान से ही राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान अयोध्या लौटेंगे, राज्यपाल राम नाईक, सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई मंत्री रामजी का स्वागत करेंगे.

मतलब इस बार पहले से ज्यादा भव्य तरीके से अयोध्या को सजाया जाएगा. राम की पैड़ी पर भव्य सजावट की जाएगी, साकेत महाविद्यालय से रामकथा पार्क तक शोभा यात्रा निकलेगी, पिछले साल लेज़र शो हुआ था, इस साल वाटर शो होगा. पर्यटन विभाग ने अयोध्या में 5 से 7 नवंबर तक दीपोत्सव को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. अयोध्यावासी के साथ साथ इस मनमोहक नजारे को पूरी दुनिया देखेगी.

पिछले साल की दीवाली इतनी खास थी, की उसके चर्चे देश में ही नहीं विदेशों में भी हुए थे. वो जगमगाती रात अभी तक देश को याद है जब दीपों से सजी टिमटिमाती बारात जंमीं पर उतरी थी. इस दीवाली फिर से आसमान के सितारों के सामने भगवान राम की धरती पर उतरे तीन लाख दीयों का नज़ारा होगा. आसमान अपनी अदाओं पर इतराएगा, अयोध्या इतिहास बनाएगी, और जमीं आसमान के माफिस जगमगाएगी.

योगी की रामलीला पार्ट-2

अयोध्या में तैयारी ऐसी है जैसे जमाने पहले भगवान राम के वनवास से लौटने के बाद यहां दिवाली मनाई थी. पुष्पक विमान की जगह हेलीकॉप्टर से भगवान राम की सवारी उतरेगी और 14 साल का वनवास काटकर भगवान राम जब अयोध्या की धरती पर कदम रखेंगे तो उनकी वापसी के जश्न में भक्त पलकें बिछाए खड़े होंगे. अयोध्या अंधेरे को खाक कर चुकी होगी, और नजारा ऐसा होगा मानों आसमान से सितारें जमीं पर उतर आए हैं. एक बार फिर त्रेता युग के उसी वैभव को अलग तरह से दोहराया जाएगा.

इस उत्सव के साक्षी अयोध्यावासियों के साथ-साथ देशी- विदेशी सैलानी भी होंगे. कार्यक्रम के लिए अयोध्या की सड़कों को ठीक किया जाएगा. बढ़ी हुई घासों को कटवाया जाएगा. इस बार सरकार का इरादा अयोध्या को वैसे सजाने का है जैसे साक्षात राम लक्ष्मण और सीता लंका विजय करके अयोध्या आ गए हैं. ऐसा माहौल होगा जैसे भगवान त्रेता युग में आए थे और आने के बाद जो स्वरूप और जो स्थिति रही साक्षात वही नजारा फिर से दुनिया देखेगी.

यूँ तो सरयू में दीपदान भी होता रहा है और अयोध्या के मंदिरों को सजाया भी गया है, लेकिन इस बार अयोध्या रोशनी में नहाएगी और इस उत्सव को अयोध्या इतिहास बनाएगी. छोटी दिवाली की शाम अयोध्या के घाट दूर से आकाश गंगा की तरह टिमटिमाते नजर आएंगे. बुधवार शाम 6 से 7 बजे तक सरयू नदी पर स्थित राम की पैड़ी में करीब तीन लाख दीप जलाए जाएंगे जो विश्व रेकॉर्ड होगा एक ऐसा विश्व रिकॉर्ड जो टूटना बहुत मुश्किल है,

क्योंकि इससे पहले भी योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या 1 लाख 70 हजार दीप जलाकर रिकॉर्ड बनाया था. शाम से वाटर शो होगा और लेजर शो से रामकथा का प्रदर्शन होगा. इसके अलावा यूपी सरकार पूरे शहर को बिजली की झालरों, बल्बों, लेजर शो आदि के जरिए जगमग करने की तैयारी कर रही है. ‘त्रेता युग’ की इस खास दिवाली में फिर से ‘पुष्पक विमान’ आएगा, एक बार जब भगवान राम पुष्पक विमान से अयोध्या लौटे थे,

कब तक सेकोगे राम- बाबरी पर रोटी ?

उसी वैभव को सीएम योगी आदित्नाथ ने पिछले साल दोहराया और अब तीसरी बार फिर भगवान राम और सीता हेलिकॉप्टर से आएंगे. साथ ही राम के राज्याभिषेक के दौरान रथ, घुड़सवार और सैनिक होंगे. शोभायात्रा के दौरान हेलिकॉप्टर से आम लोगों पर फूलों की वर्षा की जाएगी. इसका मकसद यह है कि आम लोगों को यह अहसास हो कि वह सचमुच त्रेता युग की दिवाली का आनंद ले रहे हैं.

राम की नगरी कहे जाने वाले अयोध्या में यह दूसरा मौका होगा. जब रोशनी के पर्व पर दीपावली को मनाने के लिए पूरा सरकारी अमला इस ऐतिहासिक शहर में जुटा होगा. इस भव्य आयोजन के साथ सरकार ने ब्रैंड अयोध्या की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं. अयोध्या के पौराणिक स्वरूप को वापस लाने के लिए कई करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की आधारशिला सीएम योगी ने पिछली बार रखी थी, और इस बार भी उम्मीद है सीएम अयोध्या को बेशकीमती तोहफा देंगे

1,504 total views, 3 views today

Facebook Comments

One thought on “अयोध्या की धरती पर विराजेंगे भगवान राम, योगी आदित्यनाथ करेंगे स्वागत”

Leave a Reply