ऐसे ही

वर्ल्ड बैंक की 'ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस' ने दी मोदी सरकार को बड़ी खुशखबरी

लगातार  विवादों में घिरी मोदी सरकार के लिए वर्ल्ड बैंक नें अच्छी खबर दी है | वर्ल्ड बैंक की 'ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस' ने एक आंकड़ा जारी करते हुए कहा है कि पिछले कई सालों के मुकाबले भारत में बिजनेस करना आसान हुआ है । इस मामले में भारत पहले 100वें पायदान पर था . लेकिन साल 2018 में आंकड़ों में बहुत सुधार हुआ और भारत 23 पायदान की सुधार के साथ 77वें पायदान पर विराजमान हुआ है| गौरतलब है कि भारत के ग्राफ में सुधार होने के बाद विदेशी निवेश में काफी फायदा मिलेगा ।यह खबर ऐसे समय में आई है जब केन्द्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और केन्द्र सरकार के बीच काफी तनातनी है. भारतीय अर्थव्यवस्था बुरी तरह से चरमराई हुई है.
प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जब हम सत्ता में आये थे तो हमारी सरकार ने यह निश्चय किया था कि हमें भारत को रैंकिंग के मामले में शीर्ष 50 में खड़ा करना है| यह हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना था जो आज पूरा होता दिख रहा है । आज हमारी रैंकिंग 77 हो गई है । डीआईपी नें इस पर काम किया और बताया कि रैंकिंग में कैसे सुधार लाया जाये ताकि भारत में विदेशी निवेशकों  की संख्या बढ़े । हमारा डीआईपी,  कोड क्रैक करने में सफल रहा ।
वहीं केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि आज अगर भारत की रैंकिंग में सुधार हुआ है तो यह राज्य सरकार और केंद्र सरकार दोनों के परस्पर सहयोग का परिणाम है । सब के प्रयास इसमें शामिल हैं । उसके बाद डीआईपी के सचिव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि हर साल रैंकिंग में 10 अंको का सुधार करने वाले देशों में हम शामिल हुए हैं.  जबकि दक्षिण एशियाई देशों में भारत इस मामले में पहले पायदान पर पहुंच गया है जबकि साल 2014 में  6ठे पायदान पर था.
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में पहले पायदान पर न्यूजीलैण्ड है.  उसके बाद सिंगापुर, डेनमार्क और हॉंगकॉंग का नम्बर आता है । वहीं इस सूची में अमेरिका 8वें, चीन 46वें और पाकिस्तान 136वें पायदान कर खड़ा है । विश्वबैंक में सबसे तेजी से सुधार करने के मामले में भारत को 10वें पायदान पर रखा गया है।
Facebook Comments

Leave a Reply