चारा घोटाला: लालू के भाग्य का दोपहर 3 बजे फैसला, लालू बोले- मैं निर्दोष हूं

चारा घोटाला मामले में आज यानी शनिवार 23 दिसंबर को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के भाग्य का फैसला होना है। चारा घोटाले के इस केस में रांची की विशेष सीबीआई अदालत लालू यादव पर अपना फैसला सुनाएगी। लालू के अलावा इस केस में बिहार के एक पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र, बिहार सरकार में पूर्व मंत्री विद्यासागर निषाद समेत 22 अन्य आरोपी हैं।

फैसला सुनाने का वक़्त पहले सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा 11 बजे मुक्कर किया गया था । जिसके लिए लालू यादव,जगन्नाथ मिश्र समेत अन्य आरोपी अपने समय पर पहुंच चुके थे लेकिन जज के कोर्ट पहुंचने के बाद ये जानकारी मिली कि फैसला दोपहर 3 बजे सुनाया जाएगा । जिसके बाद लालू कोर्ट परिसर से अपने गेस्ट हाउस के लिए रवाना हो गए । अब वह 3 बजे कोर्ट में पुनः हाजिरी लगाएंगे। लालू कोर्ट में अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव के साथ पहुंचे थे। वहां उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमें न्याय प्रणाली पर पूरा भरोषा है। हम निर्दोष है.. हमें इंसाफ मिलेगा और वह इंसाफ आज ही मिलने की उम्मीद है ।

आपको बता दें कि साल 1990 से 1994 के बीच देवघर कोषागार का यह चारा घोटाला जिसमे  89 लाख 27 हज़ार रुपये को अवैध तरीके पशु चारे के नाम पर निकासी किया गया। इसमे कुल 38 लोग आरोपी थे जिनके खिलाफ सीबीआई ने 27 अक्टूबर1997 को मामला दर्ज किया था। जिनमे अब 11 आरोपियों की मौत चुकी है, 2 ने अपना गुनाह कबूल कर लिया 2007 से सजा काट रहे हैं जबकि 3 सरकारी गवाह बन गए । इस तरह अब कुल 22 आरोपी ही हैं इस केस में जिस पर आज फैसला होना है।

इस केस में अगर किसी भी आरोपी को दोषी ठहराया जाता है तो उन्हें न्यूनतम सजा 1 साल और अधिकतम 7 साल की सजा हो सकती है हलाकि सीबीआई के मुताबिक इस मामले में गबन की भी धारा लग सकती है और अगर ऐसा हुआ तो दोषियों को न्यूनतम 10 साल और अधिकतम आजीवन कारावास हो सकता है

लालू के नाम एक बिहारी का खुला ख़त

 

Facebook Comments

Praful Shandilya

praful shandilya is a journalist, columnist and founder of "The Nation First"

Leave a Reply