घोर अंधविश्वास: बाल पीने से नहीं ठीक होगा कोरोना, अंधविश्वास और अफवाहों से बचें

चैत्र नवरात्र आज (25 मार्च ) से शुरू हो रही है. 2 अप्रैल तक यह चलेगी. नवरात्री के इस मौके पर बिहार के कुछ इलाकें जैसे कि माखनपुर, बसहा मिर्जापुर, सोहारा, आनंदपुर, बिशनपुर के स्थानीय लोगों में एक खबर आग की तरह फ़ैल रही है कि इस क्षेत्र में आपको पवित्र पुस्तक दुर्गा सप्तशती में माता दुर्गा के बाल मिलेंगे और कुछ लोगों द्वारा यह दावा भी किया जा रहा है कि उन्होंने पाया कि बाल पुस्तक में है और अगर आप उस बाल को पीते हैं तो आप पर कोरोना वायरस का कोई असर नहीं होगा.

आज सुबह से ही यह अफवाह बड़ी तेजी से फ़ैल रही है और कुछ लोग उस बाल को पी भी रहे हैं. ऐसे में लोगों को समझना चाहिए कि यह महज घोर अंधविश्वास पर टिकी एक कोरी अफवाह है और उनका कोई संभावित स्रोत नहीं है कि यह कोरोना बीमारी को ठीक करेगा.
ऐसी अंधविश्वास और अफवाह समाज के लिए बहुत घातक साबित होते हैं. लोगों में अज्ञानता इस कदर फैली हुई है इस तरीके की उलजलूल उपायों और उपचारों पर आँख मुंद कर विश्वास कर रहे हैं जिसका सच्चाई से दूर-दूर तक कोई लेना देना है.

तमाम बुरी खबरों के बीच वो अच्छी खबरें जो आपको कोरोना से लड़ने को प्रेरित करेगी

कोरोना पर पीटरसन ने हिंदी में ट्वीट कर कहा- मोदी जी, आपकी लीडरशिप विस्फोटक है

कोरोना: प्रधानमंत्री ने लोगों से की अपील- आप जिस शहर में हैं, कृपया कुछ दिन वहीं रहिए

देश में कोरोना का कहर, लॉकडाउन किये गये दिल्ली, बिहार समेत कई प्रदेश

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े
Facebook Comments

The Nation First

द नेशन फर्स्ट एक हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है जो देश-दुनिया की खबरों के साथ-साथ राजनीति, मनोरंजन, अपराध, खेल, इतिहास, व्यंग्य से जुड़ी रोचक कहानियां परोसता है.

Leave a Reply