मुकेश अंबानी की रिलायंस ने बनाया रिकॉर्ड, दो महीनों में कमाए 1.69 लाख करोड़ रुपये

देश के सबसे बड़े उद्योगपतियों में से एक मुकेश अंबानी एलान किया है कि उन्होंने तय समय से पहले कंपनी को कर्ज मुक्त बनाने का अपना वादा पूरा कर दिया है। कंपनी को 31 मार्च 2021 तक कर्ज मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया था। कंपनी ने विदेशी निवेशकों और राइट इश्यू के जरिये महज दो महीने में 1.69 लाख करोड़ रुपये जुटाने का रिकॉर्ड बनाया है। इतने कम समय में विश्व स्तर पर इतनी पूंजी जुटाना एक रिकॉर्ड है।

भारतीय उधोग जगत के इतिहास के लिए भी यह अभूतपूर्व हैं। कोरोना महामारी के समय में जब देश-दुनिया में इतनी तंगी है ऐसी स्थिति में इतनी बड़ी रकम जुटाकर निवेशकों और शेयरधारकों का कंपनी में विश्वास अपने आप में अकल्पनीय है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि आरआइएल की डिजिटल कंपनी जियो प्लेटफार्म्स लि. की एक चौथाई से कम हिस्सेदारी ग्लोबल टेक इन्वेस्टर्स को बेचकर 1.15 लाख करोड़ रुपये और राइट इश्यू के जरिये 53,124.20 करोड़ रुपये जुटाए। इन दोनों माध्यमों से कंपनी ने महज 58 दिनों में यह पैसा जुटाया। पिछले साल कंपनी ने अपनी फ्यूल रिटेलिंग वेंचर की 49 फीसदी हिस्सेदारी यूके की बीपी पीएलसी को बेचकर 7,000 करोड़ रुपये जुटाए थे।

इसके साथ ही कंपनी हिस्सेदारी बेचकर कुल 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटा चुकी है। रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 31 मार्च 2020 तक 161,035 करोड रुपये कर्ज बकाया था। इस निवेश के चलते अब रिलायंस कर्ज मुक्त कंपनी बन गई है।

कंपनी ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 11 निवेश प्रस्तावों में 24.70 प्रतिशत इक्विटी बेचकर एक लाख 15 हजार 693 करोड 93 लाख रुपए जुटाये। इसके अलावा 30 वर्षों में पहली बार लाए राईट इश्यू से 53124.20 करोड रुपये की राशि है। किसी गैर वित्तीय संस्थान के दस वर्षों में आए राईट इश्यू को लाकडाउन की वजह से तरलता की तंगी के बावजूद आकार की तुलना में 1.59 गुना अधिक अभिदान मिला। कंपनी ने पंद्रह शेयरों पर एक शेयर राईट इश्यू पर दिया है।

कर्ज मुक्त होने की उपलब्धि पर आभार व्यक्त करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा, “31 मार्च 2021 के लक्ष्य से पहले रिलायंस को ऋण मुक्त करने का शेयरधारकों से किया अपना वादा पूरा करने पर आज मैं बेहद प्रसन्न हूं। हमारे शेयरधारकों और अन्य सभी हितधारकों की उम्मीदों पर खड़ा उतरना हमारी परंपरा रही है। इसलिए रिलायंस के ऋण-मुक्त कंपनी बनने के गर्व भरे अवसर पर, मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि अपने स्वर्णिम दशक में रिलायंस और भी अधिक महत्वाकांक्षी विकास लक्ष्य स्थापित कर और उन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए हमारे संस्थापक धीरूभाई अंबानी के उस दृष्टिकोण को पूरी तरह अपनाएगा जो भारत की समृद्धि और समावेशी विकास में हमारे योगदान को लगातार बढ़ाने का है।

पिछले कुछ हफ्तों से हम जियो में निवेश के लिए वैश्विक वित्तीय निवेशक समुदाय की अभूतपूर्व दिलचस्पी से अभिभूत हैं। वित्तीय निवेशकों से फंड जुटाने का लक्ष्य पूरा हो गया है। हम अपने महत्वपूर्ण निवेशकों के समूह का हृदय से धन्यवाद करते हैं और गर्मजोशी से जियो प्लेटफॉर्म्स में उनका स्वागत करते हैं। मैं सभी खुदरा और घरेलू व विदेशी संस्थागत निवेशकों का राइट्स इश्यू में भारी एवं रिकॉर्ड भागीदारी के लिए दिल से आभार व्यक्त करता हूं।”

केंद्र सरकार का बड़ा फ़ैसला, चीन के साथ रद्द किया 471 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट

चीन के बारे में कुछ ऐसी बातें जिन्हें सुनकर आपके होश उड़ जायेंगे

सुशांत सिंह राजपूत मामले को डायरेक्टर शेखर कपूर ने दिया नया एंगल

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

The Nation First

द नेशन फर्स्ट एक हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है जो देश-दुनिया की खबरों के साथ-साथ राजनीति, मनोरंजन, अपराध, खेल, इतिहास, व्यंग्य से जुड़ी रोचक कहानियां परोसता है.

Leave a Reply