sajjan kumar and jagdish tytle
देश

1984 सिख दंगा: 34 साल बाद आया फैसला, कांग्रेस नेता सज्जन कुमार समेत 4 दोषियों को उम्रकैद

1984 का सिख दंगा तो आपको याद ही होगा । इस दंगे पर कोर्ट का आज 34 साल बाद अहम फैसला आया है और फैसले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को उम्र कैद की सजा सुनाई गई है । जहां एक तरफ कांग्रेस विधानसभा चुनावों में जीत का जश्न मना रही है तो वहीं इस अहम फैसले के आने के बाद कांग्रेस के दूसरे खेमे में मातम पसर गया है ।

आजादी के बाद की सबसे बड़ी हिंसा करार देते हुए कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार को दिल्ली हाई कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है । कोर्ट ने सज्जन कुमार को उम्र कैद की सजा के साथ-साथ 5 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है । कोर्ट मे आये फैसले के मुताबिक सज्जन कुमार को 31 दिसंबर तक सरेंडर करना है ।

सज्जन कुमार को 1984 सिख दंगे में भरकाऊ भाषण देने, हत्या करने और दंगा भड़काने के मामले में दोषी करार दिया है । 31 दिसंबर तक सज्जन को सरेंडर करना है उससे पहले वो दिल्ली नहीं छोड़ सकते । इस फैसले में जैसे ही दो बेंचो के जज ने अपना फैसला सुनाया वहाँ मौजूद वकील एचएस फुल्का सहीत कई वकील फुट फुट कर रोने लगे ।

कोर्ट का कार्यकाल खत्म होने के बाद एचएस फुल्का और अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा बाहर आये फिर दोनों ने गले लग एक दूसरे से खुशी जाहिर की और उन्होंने कहा कि हमें इंसाफ देने के लिए कोर्ट का बहुत-बहुत आभार । हमारी लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक सज्जन कुमार और जगदीश टाइटलर को फांसी की सजा न हो जाये और अब हमरा मकसद है गाँधी परिवार को कोर्ट में घसीट कर लेना ।

376 total views, 2 views today

Facebook Comments

Leave a Reply