ind vs eng world cup 2019
देश

विश्वकप 2019: फिर लगान वसूलेगी टीम इंडिया, भारत और इंग्लैंड का अहम मुकाबला आज

विश्व और इंग्लिश क्रिकेट की सुनहरी यादें समेटे एजबेस्टन बर्मिंघम का मैदान इस विश्वकप के सबसे जोरदार मुकाबले के लिए तैयार है। 6 साल पहले इस मैदान में भारत नें मेजबान इंग्लैंड को पटखनी देकर चैंपियंस ट्रॉफी जीता था। इस बार यह मुकाबला इंग्लैंड के नजरिए से करो या मरो वाला है। पाकिस्तान और श्रीलंका जैसी कमजोर टीमों को जीत देकर उनमे बूस्टर भरने वाली इंग्लैंड टीम के लिए अब यही टीमें सरदर्द बनी खड़ी है।कहाँ इंग्लैंड को कभी विश्वकप फेवरेट कहा जा रहा था, आज यह टीम सेमीफाइनल में पहुँचती नहीं दिख रही है। उसको बाकी बचे दोनो मैच जीतने है लेकिन सामने प्रतिद्वंद्वी भारत और न्यूजीलैंड है।

वहीं टीम इंडिया अजेय विजयरथ पर सवार होकर अंतिम चार के दरवाजे पर दस्तक दे चुकी है। लेकिन उसकी पहली कोशिश नंबर एक पोजिशन हथियाना है जिससे की उसे नंबर चार के साथ सेमीफाइनल खेलना पड़े। शुरूआत में ऐसा लग रहा था कि यह विश्वकप काफी बोरिंग होने वाला है लेकिन अब हालत यह है कि ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर बाकी तीन स्थान के लिए छः टीमों के बीच जंग है। अगर आज इंग्लैंड भारत से हार जाता है तो उसे न केवल बाकी मैचों के परिणाम पर निर्भर रहना होगा बल्कि विश्व क्रिकेट के नए 'चोकर्स' का तमगा भी मिल जायेगा।

टीम इंडिया:-

कप्तान कोहली अपनी विजयी एकादश के साथ हीं जाना पसंद करेंगे। ऐसे सवाल हैं कि विजय शंकर की जगह कार्तिक या पंत को मौका क्यों नहीं मिल रहा है। लेकिन जिस तरह पाकिस्तान के खिलाफ मैच में विजय शंकर की उपयोगिता सिद्ध हुई, उन्हें टीम में रखना ही बेहतर विकल्प है। ये देखते हुए कि शंकर स्ट्राइक रोटेट नहीं कर पा रहे हैं, उनके बैटिंग ऑर्डर में बदलाव कर धोनी को नंबर चार पर भेजा जा सकता है। टीम के फ्रंट लाइन पेसर भुवनेश्वर कुमार फिट है लेकिन शमी और बुमराह हीं पहली प्राथमिकता होंगे। बाकी टीम में परिवर्तन की गुंजाइश नहीं है।

टीम इंग्लैंड:-

इंग्लैंड के दो अहम खिलाड़ी चोटिल हैं जेसन रॉय और जोफ्रा आर्चर। कप्तान मोर्गन नें स्पष्ट कर दिया है कि अगर उनके मैच खेलने से लॉंग टर्म इंजुरी नहीं होती है तो दोनों को पूरी तरह फिट हुए बगैर आज के मैच में उतारा जा सकता है। जब इमरजेंसी जैसे हालात हों तो ऐसा होना लाजिमी है। लेकिन टीम इंडिया को वर्तमान फॉर्म में हराना बेहद मुश्किल टास्क है। जेसन रॉय की जरूरत इसलिए है कि वह पावरप्ले में एक तेज स्टार्ट देते हैं। लेकिन जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के सामने यह कतई आसान नहीं है।

मैच भले हीं बर्मिंघम में हो लेकिन मैदान,ब्लू और ऑरेंज रंग से सराबोर होगा। जिस तरह का उत्साह इंडियन फैंस दिखा रहे हैं, यह पचाना मुश्किल है कि मैच इंग्लैंड में हो रहा है। टीम इंडिया के लिए 12 वें खिलाड़ी की भूमिका ये दर्शक हीं निभा देते हैं। 'सुपर संडे' को दो सुपर टीमों के बीच सुपर डुपर फिल्म आने वाली है। न केवल इंडिया और इंग्लैंड बल्कि पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश भी बेसब्री से इस मैच का इंतजार कर रहा है। पाकिस्तान को भारत की जीत फूटी आंख से भी नहीं सुहाती है, लेकिन उसको विश्वकप में बने रहने के लिए भारत को हीं जीतना होगा। धर्मसंकट में पड़े पाकिस्तानियों की किस्मत टीम इंडिया के हाथों में है।

मैच रिपोर्ट: अफगानिस्तान नें दिल जीता पाक नें मैच, कंगारुओं के सामने कीवी हुए बेदम

विश्वकप 2019: भारतीय बल्लेबाजों के इस रवैये से खुश नहीं हैं वीरेन्द्र सहवाग

विश्वकप के इतिहास में सौरव गांगुली का यह रिकॉर्ड आज तक नहीं तोड़ पाया कोई कप्तान

गांगुली की एक गलती और हाथ में आते-आते रह गया 2003 का विश्वकप

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments
Ankush M Thakur
Alrounder, A pure Indian, Young Journalist, Sports lover, Sports and political commentator
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply