National Technology Day: जब भारत ने परमाणु परीक्षण कर दुनिया को चौंका दिया

11 मई को नेशनल टेक्नोलॉजी डे के रूप में मनाया जाता है जिसकी शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा की गयी थी. इस दिन को भारतीय वैज्ञानकों और इंजीनियर्स के साइंस और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में दर्ज़ की गई उपलब्धियों के जश्न के तौर पर मनाया जाता है. इसी दिन वाजपेयी जी की अगुवाई में भारत ने पोखरण में सफलतापूर्वक परमाणु परीक्षण कर विश्व को चौंका दिए था .

जब भारत ने हाइड्रोजन बम का सफल परीक्षण कर विश्व को चौंका दिया था!

11 मई 1998 वह तारीख जब वाजपेयी सरकार ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण कर विश्व को चौंका दिया था. चौंकाने का कारण यह था कि भारत ने इस परिक्षण की खबर किसी भी देश को नहीं लगने दी और जैसे ही परीक्षण ख़त्म हुआ, पूरी दुनिया में कोहराम मच गया.
हालांकि परीक्षण के फलस्वरूप भारत की आलोचना भी उसी तरह हुई जिस तरह आज उत्तर कोरिया की हो रही है. यूनाइटेड नेशन ने भारत पर सभी तरह के प्रतिबंध लगा दिए जिसका खामियाजा वाजपेयी सरकार को भुगतना पड़ा और भारत के आर्थिक विकास को काफी नुकसान झेलना पड़ा.

परमाणु परीक्षण के फायदे

चीन और अमेरिका जैसे हाइड्रोजन बम संपन्न देश एक संगठन बनाकर दूसरे देशों पर दादागिरी दिखानी शुरू कर अन्य देशों द्वारा चलाए गए परमाणु कार्यक्रमों का विरोध करने लगे थे. चीन ने भारत पर दबाव डालने शुरू कर दिए जिससे भारत पर भी हाइड्रोजन बम बनाने का दबाव पड़ा. और जब भारत द्वारा सफलतापूर्वक परमाणु परिक्षण किया गया जिसके उपरांत चीन की दादागिरी भारत को लेकर बंद हो गई और आज भारत चीन से भी तेज गति से विकास कर रहा है.

लंदन में इलाज के दौरान इरफ़ान का लिखा ये ख़त पढ़कर आपका कलेजा पिघल जायेगा

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply