तलाक और हलाला के नाम पर मुस्लिम महिलाओं के शोषण का जिम्मेदार कौन ?
विचार

तलाक और हलाला के नाम पर मुस्लिम महिलाओं के शोषण का जिम्मेदार कौन ?

ये तो सच है इस देश में जितनी संख्या मुस्लिम महिलाओं के रहनमाओं की है उतनी हिंदू महिलाओं के रहनुमाओं की भी नहीं है, क्योंकि तीन तलाक हो या हलाला, महिलाओं की शिक्षा हो या आजादी, सभी मामलों में हिंदुओं को लगता है कि मुस्लिम महिलाओं को उनका हक नहीं मिल रहा, इसीलिए तो रुक […]

bharat bandh on 6th september sc-st act | सवर्ण का भारत बंद
विचार

बीजेपी ये ना भूले... जो सत्ता में बिठाना जानता है वो सत्ता से बेदखल करना भी जानता है

एक कहावत है जो जन्म देना जानता है वो मिटाना भी जानता है । आज बीजेपी की सत्ता भारत के 21 राज्यों में है और इस सत्ता को दिलाने में सबसे ज़्यादा योगदान सवर्णों का है लेकिन बीजेपी उनके मांग को ही अनदेखा कर रही है जिस कारण आज सवर्णों ने भारत बंद का आवाहन […]

अम्बेडकर मेरे हैं
विचार

अम्बेडकर मेरे हैं

आज-कल सभी राजनीतिक दलों में एक अजीब सी होड़ मची हुई है. मैं यहाँ ‘अजीब’ इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि ये कोई ऐसी-वैसी होड़ नही है, ये होड़ है हमारे संविधान के जनक बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर को अपना बनाने की, उस पर अपना राजनीतक ठप्पा लगाने की . आज देश के सभी राजनीतिक […]

राजनीति विचार

कर्नाटक चुनाव: बीजेपी या कांग्रेस आखिर किसने की लोकतंत्र का हत्या ?

कर्नाटक के चुनावी परिणाम आने के बाद से ही पूरे देश की निगाहें कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद पर टिकी हुई है । बीजेपी हो या कांग्रेस सत्ता पाने के जोर आजमाइस में दोनों ही एक दुसरे को पीछे छोर दिया । कांग्रेस तो इतनी ताकत और निष्ठा के साथ इस कार्य को किया कि खुद […]

विचार

ब्राह्मण और दलित से पहले हम एक इंसान हैं

दो साल पहले एक किताब हाथ लगा था नाम था वाइट टाइगर जो अरबिंद अडिग के द्वारा लिखा गया है।अंग्रेजी साहित्य की सबसे प्रतिष्ठित मैन बुकर पुरस्कार यह किताब जीत चूका है । बिहार की पृष्ठभूमि पर लिखी गई ये किताब बिहार के एक जाति जिसको हम भूमिहार ब्राह्मण कहते हैं उसपर काफी कटाक्ष करते […]

विचार

अम्बेडकर ने तंग आ कर छोड़ा था हिन्दू धर्म तो गांधी ने दिया था एक 'यूनिक' नाम

भारत एक ऐसा देश है जहां लोग अपनी पहचान एक भारतीय के रूप में न करा कर पहले अपनी जाति से खुद की पहचान को दर्शाते हैं भले हीं वो डायरेक्ट रूप से सामने वाले कि जाति न पूछें लेकिन इनडाइरेक्ट रूप से सामने वाले कि जाति ज़रूर जानना चाहते हैं और अगर सामने वाला […]

विचार

आखिर कभी तो सुधरेगी भारतीय रेलवे

भारतीय ट्रेनें समय से चल रही हैं। पटरियाँ काफी दुरूस्त हो गई हैं। बिहार से दिल्ली जानें में मात्र पाँच घंटे लगते हैं। रेलवे स्टेशन शॉपिंग माल की तरह चमक रहे हैं। सारे स्टेशन पर अनलिमिटेड फ्री वाईफाई है। यात्रा से कुछ घंटे पहले भी टिकट आसानी से मिल जा रहा है। रेलवे के राजस्व […]

देश राजनीति विचार

राजनीतिक उबाल और बिहार से युवाओ का पलायन

बिहार केवल एक ऐसा राज्य बनकर रह गया है जहां सिर्फ सत्ता मे बने रहने के लिए अब राजनीति होती है और विकास तो जैसे सिर्फ यहां के युवाओं के सपनो मे आती हो और राजनीतज्ञों के विकास मॉडल  पर नजर आती है शायद यह बिमारी बिहार को ऐसे जकड़ चुकी की है मानो वहां […]

जुर्म विचार

भारत की एक ऐसी प्रथा जिसके कारण रोज कई महिलाएं मौत को गले लगाती है

भारत एक ऐसा देश है जहां धर्म, संस्कृति और रीति-रिवाज का सबसे ज्यादा ख्याल रखा जाता है और इस रीति-रिवाज को नीभाने के चक्कर मे भारतीय समाज मे कुछ ऐसा हो जाता है जो इस समाज के लिए कई बार घातक सिद्ध होता है और फिर हम हाय तौबा करते रह जाते हैं और यह […]

विचार

वक़्त आ गया है अब नौजवानों को साफ़-साफ़ कहना होगा, देश प्रेम की प्रबल धार में हर मन को बहना होगा

आजाद भारत के आजाद लेखक के कलम से:- मित्रों, हमें आरामदेह ज़िंदगी की कुछ ऐसी आदत हो गई है कि हम अपनी ज़िंदगी के इतर देखना ही नहीं चाहते। हमें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि जिस समय हम अपने एयरकंडीशनर के तापमान को अपनी सुविधानुसार घटा-बढ़ा रहे हैं ठीक उसी समय हमारे […]