जुर्म राजनीति

क्या दफन हो जाएगा मिट्टी घोटाले का साक्ष्य

बिहार में मिट्टी घोटाला कुछ दिनों से चर्चा का विषय बना हुआ है जिसमे कुछ आश्चर्य कर देने वाला मामला सामने आया है । सूत्रों का कहना है कि जब से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मिट्टी घोटाले की जांच का आदेश दिये है तब से लगातार इसका शाक्षय मिटाने की कोशिश की  जा रही है ।

कहा जा रहा है कि पटना के चिड़ियाघर का एक अधिकारी मिट्टी घोटाले के फ़ाइल के साथ पुरनका राजा से 11 बार मिल चुका है उसको शख्त आदेश मिला है कि चिड़ियाघर में लगाये गए सीसीटीवी व खुफिया कैमरे को एडिट कर शाक्षय को निकाले ।

आप को बता दे की चिड़ियाघर में 50 कैमरे लगे हुए है जिसमें से 24 हमेशा एक्टिव रहता है । चिड़ियाघर के अंदर हाईवा से ढोये गए मिट्टी और जेसीबी से रात में किया जा रहा समतलीकरण का सारा प्रमाण इन कैमरे में कैद है आप को बता दे कि वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शान के तहत चिड़ियाघर में रात में किसी भी तरह का निर्माण करना सख्त मना है ।

खबर है कि कॉन्ट्रेक्शन कंपनी पर दर्जन भर हाईवा से पुरनका राजा के निर्मानाधिन शॉपिंग काम्प्लेक्स से मिट्टी लाद कर चिड़ियाघर में गिराने का आरोप लगा है और उसे अपने जुबान पर लगाम लगाये रखने की सख्त हिदायत दी गई है और उसका भुगतान भी रोक दिया गया है। कंपनी में कार्यरत एक कर्मचारी का कहना है कि साहब का कहना है कि मिट्टी ढुलाई की सारा बकाया राशि को पथ निर्माण विभाग में ठेका दे कर कम्पनसेट कर दिया जाएगा ।

वही बंटी यादव का आदमी प्रति हाईवा 4500 के हिसाब से भुगतान ले चुका है जिसका साइन किया हुआ रसीद चिड़ियाघर के  अधिकारी के पास मौजूद है जिसे नष्ट करने की तैयारी की जा रही है

3,780 total views, 7 views today

Facebook Comments

Leave a Reply