राजनीति

सत्ता का निज़ाम क्या बदला सैनिकों की चाल ही बदल गई..

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने विगत 5-7 दिनों में कई अवैध बूचड़खानों को बंद करवाएं हैं और आगे  भी बूचड़खानों को संभवतः बंद किया जायेगा ।मुख्यमंत्री ने अपने मंत्रियों से  15 दिनों के अंदर ही उनके सम्पति का ब्यौरा माँगा और अगले ही दिन आला अधिकारियों को भी 15 दिनों की मोहलत देते हुए उनसे उनके सम्पति का ब्यौरा माँगा है, साफ़ है कि सरकार किसी भी तरह का भ्रस्टाचार को बर्दास्त करने की  मूड में नहीं है। सरकारी जगहों की हालत देखकर  उन्होने कड़े फैसले लिए हैं । सरकारी जगहों पर पान मसाला तंबाकू जैसे पदार्थों को बंद करने का आदेश दिया है । खास बात ये है कि आज बड़े अधिकारी से लेकर निचले तबके के अधिकारी के हाथों में झाड़ू देखने को मिलता है लेकिन क्या ये झाड़ू आगे भी चलते रहेंगे या फिर ठन्डे बस्ते में पड़ जायेंगे ।

वहीं मुख्यमंत्री के एंटी रोमियों दल के गठन के पूर्व ही पुलिस ने मजनूओं के पसीने छुड़ा दिया है। ये साफ़ है कि जैसे ही सरकार बदला मंत्री से लेकर कांस्टेबल तक के तेवर बदल गई है ।अब देखना दिलचस्प  कि ये तेवर सिर्फ कुछ दिनों के लिए है या फिर हमेसा रहेंगे ..

979 total views, 8 views today

Facebook Comments

Leave a Reply