आप के साथ गठबंधन की ख़बरों को अजय माकन ने किया खारिज
राजनीति

कांग्रेस से गठबंधन के फिराक में अरविंद केजरीवाल, अजय माकन ने नकारा

आज राजनीति में हर पार्टी सत्ता पाने के लिए गठबंधन और महागठबंधन कर रही है फिर क्यों न वो कभी एक दूसरे के धुरविरोधी रहे हों लेकिन जब बात कुर्सी की आती है तो दोनों धुरविरोधी ऐसे गले मिलते हैं मानो कोई खोया दोस्त मिल गया है । और आजकल अरविंद केजरीवाल को भी ऐसा ही प्रतीत होने लगा है तभी तो सारी बातों को भुला कर एक बार फिर दिल्ली में कांग्रेस के साथ 2019 में गठबंधन की सरकार बनाने की कवायत शुरू कर दी है ।

इससे पहले भी अरविंद केजरीवाल कांग्रेस के साथ मिल कर दिल्ली में सरकार बना चुके हैं लेकिन बहुत जल्द ही झाड़ू ने हाथ का साथ छोड़ दिया था । और दुबारा दिल्ली की जनता ने पूर्ण बहुमत दे कर अरविन्द केजरीवाल को सत्ता में काबिज किया था , लेकिन एक बार फिर कांग्रेस का हाथ झाड़ू पर पर सकती है ।

आज से दो दिन पहले अरविंद केजरीवाल पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की तारीफ में कसीदे पढ़ रहे थे जिसके बाद से ही ये कयास लगाया जा रहा है कि बहुत जल्द कांग्रेस आप की हो सकती है । आप और कांग्रेस के एक होने की इस संभावना पर आप नेता दिलीप पांडेय मोहर लगते नज़र आ रहे हैं । उन्होंने ट्विटर के माध्यम जानकारी दी कि कांग्रेस के कुछ नेता लागतार आम आदमी पार्टी के संपर्क में है । वो हमारा सहयोग दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में चाहते हैं और उन्होंने दिल्ली में हम से एक सीट की मांग की है ।

अजय माकन ने गठबंधन की कवायत को किया खारिज

हालांकि दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने इस गठबंधन की कवायत को एक सिरे से खारिज कर दिया है । और उन्होंने ट्वीट कर  कहा कि दिल्ली की जनता ने अब अरविंद केजरीवाल को नकारना शुरू कर दिया है और उन्हें कुर्सी जाने का डर सताने लगा है जिस कारण वो कांग्रेस से हाथ मिलाना चाहते हैं लेकिन कांग्रेस उनसे हाथ क्यों मिलाये आप की सहयोग कांग्रेस क्यों करे । अरविंद केजरीवाल, अन्ना हजारे और आरएसएस के सहयोग से ही मोदी सत्ता में काबिज हो पाए ऐसे में आप से हाथ मिलाने का सवाल ही नहीं उठता ।

Facebook Comments
Rahul Tiwari
राहुल तिवारी 2 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं. वो इंडिया न्यूज़ में भी काम कर चुके हैं.
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply