तेजप्रताप और राबड़ी देवी
राजनीति

अपनी ही पार्टी के लिए सिरदर्द बनते जा रहे हैं तेजप्रताप, माँ राबड़ी की फटकार के बाद लिया यूटर्न

राजद में तेजप्रताप के द्वारा लाया गया तूफान अब शांत हो गया है । तेजप्रताप अपने ही विधायक के पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इक्षा जाहिर करने पर आग बबूला हो गए थे और उन्होंने कहा की उनकी क्या औकात है वहां से बहन मीसा भारती चुनाव लड़ेगी । लेकिन जब विधायक भाई वीरेंद्र ने राबड़ी आवास पर जा कर राबड़ी देवी से मिल अपना पक्ष रखा उसके बाद तेजप्रताप ने अपने बयान से यूटर्न ले लिया है ।

लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी ने पुरे मामले को समेटते हुए तेजप्रताप को डांट लगाई है । राबड़ी देवी ने साफ शब्दो में कहा कि संभाल जाओ अभी वक़्त है । आगे दोनों भाइयों को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि एक साथ बैठ कर मामले को सुलझा लो इस तरह के बयानबाजियों से तुम दोनों को बचना चाहिए । किसी भी बात को सोंच समझ कर रखना चाहिए आनन-फानन में बयान देने से मौहाल बिगड़ता है ।

राबड़ी के समझाने के बाद आज जनता दरबार में तेजप्रताप ने मीडिया से कहा कि किसी भी सीट से उम्मीदवार का चयन सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ही करेंगे । मैंने अपनी बहन का नाम इस लिए लिया था क्योंकि वो उस क्षेत्र में लगातार काम कर रहीं हैं । इस डांट के बाद तेजप्रताप कैमरे के सामने इस तरह के बयानबाजियों से बचते नजर आए तो वहीं विधायक भाई वीरेंद्र ने ऑनलाइन आ कर कहा कि सब कुछ ठीक है ।

आगबबूला हुए तेजप्रताप, कहा- भाई वीरेंद्र की क्या औकात है

तेजप्रताप को नसीहत

आपको बता दें कि शुक्रवार को तेजप्रताप के बयान के बाद जब तेजस्वी यादव से पत्रकारों ने सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि क्या अब कैमरे पर ही बात होगी ? क्या पार्टी में लालू जी का कोई महत्व नहीं है ? आखिर वो लोग पार्टी में किस लिए है । तेजस्वी के इस बयान से ये साफ हो चुका है कि वो अपने बड़े भाई तेजप्रताप के बयान से कतई सहमत नहीं है और उन्होंने इनडाइरेक्ट रूप से तेजप्रताप को नसीहत भी दे दी । कुल मिला कर एक ही सवाल उठता है कि क्या अपने बयानबाजियों से लाइम लाइट में बने रहने वाले तेजप्रताप अपने ही पार्टी के लिए सिरदर्द बनते जा रहे हैं ।

813 total views, 2 views today

Facebook Comments

Leave a Reply