congress-manifestro for 2019 election
राजनीति

कांग्रेस ने जारी किया अपना घोषणापत्र, राहुल बोले- वादा किया है तो निभाएंगे

कांग्रेस ने 2019 लोकसभा चुनाव के मध्यनजर मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी कर दिया. 'हम निभाएंगे' के कवर के साथ यह घोषणापत्र जारी किया गया जिसमें कांग्रेस ने न्यूनतम आय योजना, रोजगार सृजन और किसानों के लिए अलग बजट समेत कई बड़े वादे किये हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने यह मेनिफेस्टो(घोषणापत्र) जारी किया. इस दौरान कांग्रेस के कई दिग्गज नेता भी वहां मौजूद थे.

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम, पूर्व डिफेंस मिनिस्टर एके. एंटनी, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला, आरपीएन सिंह, दिल्ली की प्रदेश अध्यक्ष एवम् पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत जैसे तमाम दिग्गज नेता मौजूद थे.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने घोषणापत्र जारी करते हुए कहा कि हम सत्ता में आने पर 20 फीसदी गरीबों के लिए 'न्यूनतम आय योजना' शुरू करेंगे इसके तहत गरीब तबके के लोगों को प्रति माह 6,000 रुपये दिए जाएंगे. पार्टी ने अपने इस घोषणापत्र को 'जन आवाज' नाम दिया है. राहुल गांधी ने कहा कि हमने अपने चुनाव चिह्न हाथ की थीम को ध्यान में रखते हुए 5 बड़े वादों को इसमें शामिल किया है.

वादा किया है तो निभाएंगे

राहुल ने कहा कि हम हर दिन प्रधानमंत्री के तमाम झूठ सुनते हैं. इसलिए हमारा कहना है कि हम अपने वादे को निभाएंगे. राहुल गांधी ने कहा कि इस मेनिफेस्टो को एक साल की कड़ी मेहनत से लोगों की राय लेकर तैयार किया गया है. पार्टी ने अपने घोषणापत्र का शीर्षक भी 'हम निभाएंगे' रखा है.

वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के इस मेनिफेस्टो की चर्चा देश भर में होगी. गरीबों के कल्याण को इसमें जगह दी गई है. यह आगे बढ़ने वाला घोषणापत्र है, जिसमें गरीबों, छात्रों, किसानों और अल्पसंख्यकों समेत समाज के सभी वर्गों के कल्याण का ध्यान रखा गया है. देखिए, कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कौन-कौन से बड़े वादें किये हैं:-

  1. गरीब लोगों को सालाना 72 हजार रुपए दिए जाएंगे.
  2. कांग्रेस पार्टी सत्ता में आई तो 22 लाख खाली पदों को मार्च 2020 तक भर देगी.
  3. 10 लाख युवाओं को ग्राम पंचायतों में रोजगार दिया जा सकता है.
  4. हिन्दुस्तान के युवाओं को बिजनेस खोलने के लिए किसी तरह की कोई मंजूरी नहीं लेनी होगी.
  5. मनरेगा के तहत 100 से 150 दिन गारंटी रोजगार कर दिया जाएगा.
  6. किसान अगर कर्ज नहीं चुका पा रहा है तो इससे सिविल अपराध माना जाएगा.
  7. शिक्षा सेक्टर के लिए हमने तय किया है कि जीडीपी का छह फीसदी पैसा हिन्दुस्तान की शिक्षा के लिए दिया जाएगा.

तेजप्रताप ने बनाई अपनी एक अलग पार्टी, ससुर के खिलाफ सारण से लड़ेंगे चुनाव

Facebook Comments
The Nation First
द नेशन फर्स्ट एक हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है जो देश-दुनिया की खबरों के साथ-साथ राजनीति, मनोरंजन, अपराध, खेल, इतिहास, व्यंग्य से जुड़ी रोचक कहानियां परोसता है.
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply