राजनीति

मीटू के जाल में फंसे पूर्व केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर की बढीं मुश्किलें

मीटू के जाल में फंसे पूर्व केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। खुद पर मीटू के तहत लगे आरोपों को खारिज करने के लिए उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.  उन्होंने दावा किया था कि वह निर्दोष हैं । लेकिन उनके इस दावे को अमेरिकी पत्रकार पल्लवी गोगोई ने खारिज कर दिया है ।
आपको बता दें कि एमजे अकबर पर पल्लवी गोगोई ने रेप का आरोप लगाया था जिसके बाद अकबर को अपने मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.  तब से वह कोर्ट का चक्कर लगा रहे हैं । पल्लवी aपहली महिला नहीं हैं जिन्होंने एम जे अकबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है इससे पहले कई और महिलाओं ने जो इनके साथ काम करती थीं वो भी अकबर को मीटू के कटघरे में खड़ा कर चुकी हैं .

क्या है आरोप

एमजे अकबर पर आरोप है कि उन्होंने पल्लवी गोगोई के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए थे। हालांकि इसे अकबर सिरे से नकारते रहे हैं । अकबर का कहना है कि उन्होंने शारीरिक संबंध सहमति से बनाये थे. वहीं पल्लवी गोगोई ने पलटवार करते हुए कहा कि वो ख़ौफ पैदा कर अपने ताकत का इस्तेमाल कर रिश्ता बनाया था.
इस तरह से बनाये गए रिश्ते सहमति से नहीं बनते । पल्लवी गोगोई ने कहा कि वो अपने दिए बयान पर कायम हैं.  गोगोई ने बयान में लिखा है कि उन्होंने मेरे साथ ज़बरदस्ती संबंध बनाया था. वह जिम्मेदारी लेने के बजाए इस बात पर जोर दे रहे हैं कि रिश्ता हमारे सहमति से बनी थी ।
गोगोई कहती हैं कि ख़ौफ पैदा कर सत्ता का फायदा उठा कर बनाया गया रिश्ता सहमति से नहीं बनता है। आपको बता दें कि पल्लवी फिलहाल अमेरिका में नेशनल पब्लिक रेडियो की मुख्य एडिटर हैं। उन्होंने एक आर्टिकल, जो 'वाशिंगटन पोस्ट' में छपी थी,के माध्यम से अकबर पर पलटवार किया था । इस पोस्ट में उन्होंने बताया है कि कैसे अकबर ने उनका शारीरिक शोषण किया था ।

459 total views, 2 views today

Facebook Comments

Leave a Reply