राजनीति

गिरीराज सिंह के बिगड़े बोल अगर हिन्दू नाराज हो गए तो ठीक नहीं होगा

आये दिन राम मंदिर को लेकर कोई न कोई विवादित या धमकी भरा बयान आता रहता है और इस बार भी कुछ ऐसा ही बयान आया है केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का । उन्होंने खुले तौर पर मुसलमानों को हिदायत दी है कि सीधे सीधे राम मंदिर बनाने के फेवर में आ जाओ अन्यथा हालात कुछ भी हो सकता है ।

उन्होंने कहा कि भारत में रहने वाले मुस्लिम राम के वंशज हैं, न की मुगलों के वंशज नहीं हैं इस लिए उन्हें राम मंदिर का विरोध नहीं करना चाहिए । जो लोग इसका विरोध कर रहे हैं वो समर्थन में आ जाएं अन्यथा उनसे हिन्दू नाराज हो जाएंगे और अगर हिन्दू नाराज हो गए तो स्थिति बदल जाएगी । वो मुस्लिमों से नफरत करने लगेंगे और अगर ये नफरत की आग भड़क गई तो फिर मुस्लिमों को सोंचना पड़ सकता है ।

सबका साथ सबका विकास करने वाली सरकार के मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि राम मंदिर कैंसर की तरह खतरनाक बीमारी है जो अपने चरम पर पहुँच चुका है. अब इसका इलाज होना जरूरी है और राम मंदिर बना कर ही इसका इलाज संभव हो सकता है ।

दरअसल गिरिराज सिंह जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के बैनर तले आयोजित जनसंख्या कानून रैली को संबोधित करने पहुंचे थे. लेकिन बढ़ती जनसंख्या पर रोक लगाने के मुद्दे को छोड़ वो मुस्लिमों को नसीहत देने लगे. हिन्दू मुस्लिम की जनसंख्या पर अपनी राजनीतिक रोटी सेकने लगे । मंत्री जी ने कहा कि पिछले कुछ सालों में हिन्दुओं की जनसंख्या के मुकाबले मुस्लिमों की जनसंख्या तेजी से बढ़ी है । उन्होंने कहा कि जहां हिन्दू आबादी कम है वहां मुस्लिमों का दबदबा होता है और हिन्दू अपना आवाज नहीं उठा पाते हैं ।

यह भी पढ़ें : चुनाव नजदीक देख फिर याद आए राम, केशव प्रसाद मौर्या ने कहा- राज्यसभा में बहुमत होता तो संसद के जरिये बनता राम मंदिर

राज्य के 20 जिलों में 20 साल बाद हिंदुओं की जुबान नहीं खुलेगी क्योंकि उस समय था वो जिला मुस्लिम बाहुल्य होगा । भारत मे 54 ऐसे जिले हैं जहां हिंदुओं की आबादी कम हुई है और आने वाले समय में ढाई सौ से भी अधिक जिलों का भी यही हाल होने वाला है. अगर सर्वधर्म समभाव किसी को सीखना चाहते हैं तो मुस्लिमों को सिखाओ, तभी मुस्लिमों की जनसंख्या घटेगी मंत्री जी ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो मैं सनातन धर्म के लिए बीजेपी को छोड़ने को भी तैयार हूँ ।

वहीं पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि देश की विकास के लिए जनसंख्या कानून जरूरी है. बढ़ती जनसंख्या देश के विकास में अवरोध उत्पन्न कर रही है. देश मे हर मिनट 29 बच्चे जन्म लेते हैं. इस हिसाब से हर साल 2 करोड़ बच्चों का जन्म होता है । इसका मतलब है कि हर साल 2 करोड़ की आबादी वाला एक देश पैदा लेता है जिस पर रोक लगाना जरूरी है । साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अल्पसंख्यक की परिभाषा बदलनी चाहिए. जो 5 प्रतिशत में हैं, वो भी अल्पसंख्यक हैं. जो 90 प्रतिशत में हैं, वो भी अल्पसंख्यक के लिस्ट में ही आते हैं ।

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply