भारत का इस्लामीकरण चाहते हैं कमल हासन और नसीरुद्दीन शाह- गिरिराज सिंह
राजनीति

भारत का इस्लामीकरण चाहते हैं कमल हासन और नसीरुद्दीन शाह- गिरिराज सिंह

कमल हासन के बयान पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है । उनके बयान के बाद अब केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कमल हासन और नसीरुद्दीन शाह पर हमला बोला है । गिरिराज सिंह ने कहा कि कमल हासन और नसीरुद्दीन शाह भारत का इस्लामीकरण चाहते हैं । साथ ही उन्होंने कमल हासन और नसीरुद्दीन शाह को पाकिस्तान का एजेंट भी बता दिया । उन्होंने कहा कि गजवा-ए-हिन्द का मतलब होता है भारत का इस्लामीकरण और ये लोग भारत मे भी यही करना चाहते हैं ।

गिरिराज सिंह ने एक ट्वीट के माध्यम से इन दोनों अभिनेताओं पर हमला किया है उन्होंने लिखा कि कमल हासन, नसीरुद्दीन शाह और सिद्धू के साथ साथ इन्टॉलरेंस ग्रुप पाकिस्तान साजिश गजवा-ए-हिन्द साजिश के लश्कर हैं । ऐसे लोग कश्मीर में जनमत संग्रह की बात करते हैं जबकि हिंदुस्तान गजवा-ए-हिन्द को विफल करने और कश्मीर से धारा 370 के साथ आर्टिकल 35ए को खत्म करने का मांग कर रहा है ।

 

कश्मीर में जनमत संग्रह की बात की थी कमल हासन ने

दरअसल नसीरुद्दीन शाह ने कुछ महीने पहले मॉब लिंचिंग पर अपना विचार रखा था जिसके बाद उन्हें काफी कुछ सुनने को मिला । नसीरुद्दीन शाह के बाद पुलवामा वाले घटना पर कमल हासन का एक बयान आया जिसमें उन्होंने कश्मीर के लिए आजाद कश्मीर शब्द का इस्तेमाल किया था । उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर में शांति बहाल के लिए जनमत संग्रह एक मात्र विकल्प है ।

जनमत संग्रह के जरिये ही कश्मीर में शांति बहाल किया जा सकता है । उन्होंने पुलवामा हमले पर बदला लेने के लिए तत्काल सर्जिकल स्ट्राइक करने का विरोध किया है । साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि आजाद कश्मीर में जिहादियों की फ़ोटो ट्रेन में लगा कर उन्हें हीरो की तरह दिखाया जाता है यह कदम बेहद मूर्खतापूर्ण कदम है अगर हम ये साबित करना चाहते हैं कि भारत उनसे बेहतर है तो हमें ऐसा नहीं करना चाहिए ।

Facebook Comments

Leave a Reply