राजनीति

चारा घोटाला के चौथे केस में लालू यादव दोषी करार, जगन्नाथ मिश्रा बरी

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही । 19 मार्च यानी सोमवार को दुमका कोषागार घोटाला में सीबीआई   के विशेष अदालत ने  एक बार फिर लालू यादव को दोषी करार दिया है । इस मामले में 31 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया  था .
लेकिन इसमें 12 को ही दोषी पाया गया है  जिसमे जगन्नाथ मिश्र सहित बेक जूलियस, महेश प्रसाद और बाकी अन्य 17 लोगों को निर्दोष पाया गया । तो साथ हीं आरके राणा, जगदीश शर्मा, ध्रुव भगत और विद्यासागर निधास और एक अधिकारी फूल चंद सिंह को दोषी करार दिया गया है तो वहीं इस मामले में लालू प्रसाद यादव को 21 या 21 मार्च को सजा सुनाई जाएगी ।
आपको बता दें कि लालू यादव रिम्स हॉस्पिटल में भर्ती थे और जब तक वो कोर्ट पहुंचते तब तक फैसला सुनाया जा चुका था । फैसला आने के तुरंत बाद राजद नेता रघुवंश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जम कर निशाना साधा । उन्होंने कहा को नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी की अजब है मेल और दोनों का अजब है खेल, जगन्नाथ मिश्र जो दोषी थे उन्हें मिला बेल तो लालू यादव गए जेल ये है नरेंद्र मोदी का खेल ।
आपको बता दें कि लालू यादव पर 1995 से 1996 के बीच दुमका कोषागार से अवैध तरीके से 13.13 करोड़ रुपये निकलने का आरोप लगाया गया था जिसका फैसला आज सुनाया गया । लालू यादव पर इस तरह के 6 मामले दर्ज हैं 3 में उन्हें सजा सुनाया जा चुका है तो चौथे मामले की सजा का ऐलान 21 या 22 मार्च को होगी ।
लालू यादव को चारा घोटाले के मामले में पहली बार 2013 मे 5 साल की सजा सुनाई गई थी तो 2017 में साढ़े तीन साल की सजा सुनाया गया था और इसके अलावा 2018 में चार घोटाले के तीसरे मामले में 5 साल की सजा सुनाई गई थी । देखना दिलचस्प होगा की लालू यादव को इस बार सजा में कोर्ट से रियायत मिलती है या फिर उन्हें इस बार भी 3 से 5 साल की सजा होगी ।

यह भी पढ़ेंचारा घोटाला: लालू के भाग्य का दोपहर 3 बजे फैसला, लालू बोले- मैं निर्दोष हूं

662 total views, 1 views today

Facebook Comments

Leave a Reply