राजनीति

बागी नेता शरद यादव पर टूटा मुसीबतों का पहार,धोना पर सकता है इस पद से हाथ

पीछले कई महिनो से JDU मे काफी घमासान मचा हुआ है और वो महज इस लिए कि शरद यादव क नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी का साथ रास नही आ रहा है दरअसल जब से नीतीश कुमार ने बीजेपी का दामन थामा है उसी समय से शरद यादव के  शुर बागी हो गये है जिसका उदाहरण उन्होंने  25 अगस्त को चुनाव आयोग मे जाकर तीर पर अपना दावा पेश कर, किया था लेकिन चुनाव आयोग से उन्हें खाली हाथ ही लौटना पड़ा,चुनाव आयोग ने नीतीश कुमार वाले JDU को ही असली करार दिया है । आयोग के मुताबिक शरद यादव के पास इससे जुड़े कोई पुख्ता दस्तावेज नही था जिस कारण चुनाव आयोग ने उनके दावे पर कोई संज्ञान नही लिया ।

यह भी जानें-नीतीश के इस एक गलती से टूट गई 13 साल पुरानी दोस्ती

राज्यसभा सचिवालय ने मांगा जवाब

इधर चुनाव आयोग से खाली हाथ लौटने के बाद शरद यादव और अली अनवर अंसारी से पार्टी के इस याचिका पर एक हफ्ते के भीतर जवाब मांगा है वहीं दुसरी ओर राज्यसभा सचिवालय ने शरद यादव और अली अनवर अंसारी पर पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए कहा कि क्यों ना दोनो सांसदो की सदस्यता को रद्द कर दिए जाएं । उसके बाद राज्यसभा सचिव से नोटिस मिलने के बाद अनवर ने कहा कि जवाब पहले से ही तैयार है बस उन्हे चुनाव आयोग के फैसले का इंतजार था लेकिन जब अब चुनाव आयोग का फैसला आ गया है तो दोनो ही JDU के बागी नेताओ को जवाब देना होगा ।

हमारी लड़ाई सिध्दांतो की है

वहीं शरद यादव ने कहा कि उनकी लड़ाई पद की नही है वो सिधान्तवादी है और उनकी लड़ाई सिध्दांतों से है साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें राज्यसभा से नोटिस मिली है जिसका वो समय आने पर जवाब देंगे । राज्यसभा से नोटिस मिलने के बाद यादव ने कहा कि यह कानूनी पहलू है जिसे उनका वकील देख रहा है । हमारी लड़ाई कोई आम लड़ाई नही है हम सिध्दांत और देश के संविधान को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं और इस से पहले भी हम दो बार सांसद पद से इस्तीफा दे चुके हैं । साथ ही इस मुद्दे पर शरद यादव ने नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि हम जिस रास्ते पर हैं हमारे विपक्षी ठीक उसके विपरीत खड़े हैं उन्होंने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि जब हमारे मित्र ने महागठबंधन किया था तब भी लालू यादव पर से भ्रष्टाचार का आरोप नही हटा था और जब उन्हे बीजेपी का साथ मिलना तय हो गया तब उन्हें याद आया कि लालू यादव की पार्टी भ्रष्ट पार्टी है

Facebook Comments
Rahul Tiwari
राहुल तिवारी 2 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं. वो इंडिया न्यूज़ में भी काम कर चुके हैं.
http://www.thenationfirst.com

One thought on “बागी नेता शरद यादव पर टूटा मुसीबतों का पहार,धोना पर सकता है इस पद से हाथ

Leave a Reply