राजनीति

बिहार में हैशटैग मीटू का एक केस ऐसा भी, नौकरी के बदले रखी गंदी शर्त

ताजा खबरों में अभी मीटू हैशटैग सबसे ज़्यादा प्रचलित हो रहा है। एक से बढ़ कर एक सेलेब्रिटीज़ के पोल खुल रहे हैं जिसके बाद उन्हें अपने जॉब से हाथ धोना पड़ रहा है । ताज़ा मामला बिहार के मुजफ्फरपुर का है जिसमे पीड़िता न तो कोई सेलेब्रिटी है और न ही उसने
मीटू के साथ ट्वीट किया है। लेकिन मामला कुछ ऐसा हीं है । खबर के मुताबिक एक सार्जेंट मेजर पर आरोप है कि उसने सिपाही की विधवा को नौकरी और उसमें होने वाले मेडिकल टेस्ट में पास कराने के लिए उससे उसकी अस्मत की मांग की। अब मामला जांच के घेरे में है और पुलिस मुख्यालय नें अस्मत मांगने वाले सार्जेंट मेजर की रिपोर्ट तलब की है ।

आखिर मामला क्या है

मुजफ्फरपुर के एक रेलवे पुलिसकर्मी की मौत कुछ दिन पहले हार्टअटैक से हो गई। जिसके बाद उसकी विधवा को अनुकम्पा पर नौकरी मिली। लेकिन नौकरी में जैसे ही मेडिकल टेस्ट की बारी आई तो वहां तैनात इंस्पेक्टर साहब ने महिला से इसके बदले में उसकी अस्मत की मांग कर डाली। लेकिन खबर का खुलासा तब हुआ जब इंस्पेक्टर साहब का एक ऑडियो वायरल हुआ ।
इस वायरल ऑडियो में इंस्पेक्टर साहब उस विधवा से कह रहे हैं कि वो जब भी आवास पर आए तो एक फ़ाइल ले कर आये और किसी को भी अपने साथ नहीं लाये । इस वायरल ऑडियो में साहब यह भी कह रहे हैं कि जिस दिन उनके आवास पर वो आएगी अपने यहां तैनात एक जवान को वहां से हटा देंगे । बताया जा रहा है कि महिला पिछले 3 महीने से ट्रेनिंग कर रही है ।
ऑडियो वायरल होने के बाद रेल पुलिस महकमे में अफरातफरी मच गई है । ऑडियो कई ग्रुप में भी वायरल हो चुका है । अब इस मामले में जांच की मांग उठने लगी है जिसके बाद रेलवे एसएसपी संजीव कुमार सिंह से पूरी रिपोर्ट मांगी गई है ।
Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply