राजनीति

मोटर साइकिल पर सवार होकर निकलेंगे सीएम योगी, कमल संदेश यात्रा के सहारे 2019 फतेह करने की कोशिश

बीजेपी 2019 के मैदान ए जंग में मोटर साइकिल पर सवार होकर उतरेगी, उत्तर प्रदेश में 17 नवंबर को बीजेपी कमल संदेश यात्रा निकालेगी, इस यात्रा में सीएम योगी, केशव प्रसाद मोर्या और दिनेश शर्मा भी बाइक पर सवार होंगे, 2019 का बिगुल बजने वाला है, 5 राज्यों के चुनाव बहुत नज़दीक हैं और बीजेपी 2019 के मैदान ए जंग में उत्तर प्रदेश के रास्ते से उतर रही है. 2019 फतह करने के लिए योगी आदित्यनाथ की अगुवानी में बीजेपी यूपी में कमल संदेश यात्रा निकालने जा रही है.

17 नवंबर से शुरू होने वाली उस यात्रा में आठ लाख बीजेपी कार्यकर्ता बाइकों पर सवार होंगे. सभी जिलों से निकलने वाली इस यात्रा में सीएम योगी वाराणसी में, तो डेप्युटी सीएम केशव मौर्य प्रयागराज और डॉ. दिनेश शर्मा लखनऊ में मोटरसाइकल चलाएंगे, इस यात्रा का मकसद है कि जनता के बीच जाकर लोगों का विश्वास जीता जाए, इस यात्रा का यही मकसद है, और इसी के सहारे 2019 की तैयारी हो रही है.

बीजेपी के चाणक्य अमित शाह का दावा

बीजेपी के चाणक्य अमित शाह का दावा है कि बीजेपी लोकसभा चुनावों में पिछली बार से ज्यादा सीटें जीतेगी, और उसी दावे को हकीकत में बदलने के लिए बीजेपी ने जमीन पर उतरने का फैसला लिया है. लेकिन सवाल ये है क्या बीजेपी का अपने मिशन में कामयाब हो पाएगी, क्योंकि विपक्ष का कहना है बीजेपी सरकार के हौसले डगमगा गए हैं, इस बार बीजेपी की बुरी हार होगी और हो सकता है पीएम मोदी को वापस गुजरात जाना पड़ जाए.

मतलब साफ है चुनावी सरगर्मी में बीजेपी कमल संदेश यात्रा के सहारे यूपी फतेह करने के लिए निकल रही है. लेकिन सियासत के इस रोमांच के बीच देखना दिलचस्प होगा कि कमल संदेश यात्रा के सहारे बीजेपी 2019 फतेह कर पाएगी ? कमल संदेश यात्रा से जनता के बीच कैसे जाएगा विकास का मैसेज ? क्या योगी के डेढ़ साल का विकास समूचे विपक्ष पर पड़ेगा भारी ? क्या 2019 से पहले मोदी-योगी की कोई काट निकाल पाएगा विपक्ष ?

ये वो सवाल हैं जिनका जवाब तो अभी नहीं मिलेगा, लेकिन फिर भी ये हर जुबान पर रहेंगे. 2019 से पहले कमल संदेश यात्रा सियासी समीकरणों को कौन सी दिशा देगी. ये देखना होगा...लेकिन ये साफ है, बीजेपी उत्तर प्रदेश को जीतने के लिए निकल रही है, और विपक्ष उसे रोकने के लिए निकल रहा है. शह और मात के खेल का आने वाला वक्त बहुत दिलचस्प है.

Facebook Comments

Leave a Reply