‘बॉबी’ का राज हो या ‘मुल्क’ का मुरादअली, हर किरदार में लाजावाब थे ऋषि कपूर

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर का आज (गुरुवार) मुंबई में निधन हो गया। वो लम्बे समय से कैंसर से जूझ रहें थे। साल 2018 में उन्हें कैंसर का पता चला था, जिसके बाद लगभग एक वर्ष तक न्यूयॉर्क में उनका इलाज चला।

तत्पश्चात् भारत वापसी के बाद उन्हें सार्वजनिक तौर पर बहुत कम देखा जाने लगा था। इन दो वर्षों तक चली कैंसर से जंग में आज 67 वर्ष की आयु में उन्होंने अपनी अंतिम समय ली।

जीवन परिचय

ऋषि कपूर स्‍वर्गीय राज कपूर के बेटे और पृथ्‍वीराज कपूर के पोते हैं। परम्‍परा के अनुसार उन्होंने भी अपने दादा और पिता के नक्‍शे कदम पर पैर रखते हुए फिल्‍मों में अभिनय कर एक सफल अभिनेता के रूप में जाने जाते हैं। पहली फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ थी जिसमें उन्‍होंने अपने पिता राज कपूर के बचपन का रोल किया था। बतौर मुख्य अभिनेता के रूप में उनकी पहली फ़िल्म बॉबी थी।

ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी 22 जनवरी 1980 में हुई थी। कपूर साहब के दो संतानें है, रणबीर कपूर जो की एक अभिनेता है और रिद्धिमा कपूर जो एक ड्रैस डिजाइनर है। कपूर साहब अपने सोशल मीडिया टिप्पणियों के लिए कई बार विवादों में रहे हैं।

फिल्म मेरा नाम जोकर के लिए वर्ष 1970 में बंगाल फ़िल्म जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन अवार्ड्स की तरफ से स्पेशल अवार्ड और नेशनल फ़िल्म अवार्ड,

फिल्म बॉबी के लिए वर्ष 1974 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार व वर्ष 2008 में फ़िल्मफ़ेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड जैसे कई पुरस्कार उन्होंने अपने जीवन-काल में हासिल किए। ऋषि कपूर ने अपने जीवन काल में एक से बढकर एक किरदार निभाए. हाल के वर्षो में रिलीज़ हुई फिल्म ‘मुल्क’ और ‘102 नॉट आउट’ में कपूर साहब के निभाए गये किरदार को खूब सराहा गया. साल 2019 में आई फिल्म ‘द बॉडी’ ऋषि कपूर की अंतिम फिल्म थी. जूही चावला के साथ ‘शर्माजी नमकीन’ वो अंतिम फिल्म है जिसमें ऋषि कपूर ने काम किया है. यह फिल्म अंडर प्रोडक्शन है.

लंदन में इलाज के दौरान इरफ़ान का लिखा ये ख़त पढ़कर आपका कलेजा पिघल जायेगा

सिर्फ इंसान गलत नहीं होता, वक़्त भी गलत हो सकता है

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply