पहले टेस्ट में पाक के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने कराई 'चमत्कारिक' ड्रॉ
खेल

ख्वाजा-पेन की पाकिस्तान के खिलाफ मैराथन पारी, मैच ड्रॅा

साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच केपटाउन टेस्ट का तीसरा दिन, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में भूचाल लेकर आया. बॉल टेंपरिंग की घटना में टीम के तीन अहम खिलाड़ी कप्तान स्टीवन स्मिथ, उपकप्तान डेविड वार्नर और ओपनर कैमरन बैनक्राफ्ट का नाम आ चुका था. जल्द हीं इन तीनों खिलाड़ियों पर क्रमशः 1 साल, 1 साल और 9 महीनें प्रतिबंध की सजा क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया यानि सीए द्वारा सुनाया गया. स्मिथ और वार्नर के जानें से ऑस्ट्रेलिया पूरी तरह टूट गया.

अफ्रीका में टेस्ट सीरीज़ हारनें के बाद पहली बार, टिम पेन की कप्तानी में एकदम नई नवेली टीम टेस्ट खेल रही है, वो भी दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ. यानि अग्निपरीक्षा दे रही है पाकिस्तान के गढ़ में नए खिलाड़ियों के साथ. शायद हीं कभी हुआ हो कि ऑस्ट्रेलिया जैसी टीम का तीन खिलाड़ी एक साथ टेस्ट डेब्यू करे, लेकिन ऐसा हुआ दुबई में. आरोन फिंच,ट्रेविस हेड और मार्कस लाबुसचेन नें अपना पहला टेस्ट खेला.

टॉस जीतकर पाकिस्तान की जबर्दस्त बैटिंग

पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद नें टॉस जीतकर पहले बैटिंग का सटीक फैसला लिया. आमतौर पर पहले दो दिन सपाट रहनें वाली दुबई की विकेट पर बॉलरों के लिए कुछ खास नहीं था. पाकिस्तान के 482 रनों की इनिंग में दो शतक लगे, मोहम्मद हफीज(126),हरीश सोहेल(110) वहीं दो फिफ्टी का स्कोर था, इमाम-उल हक(76) और असद शफीक(80). कमजोर नजर आ रही मेहमान बॉलिंग आक्रमण में अनुभवी पेसर पीटर सिडल नें 3 विकेट और नाथन ल्योन नें दो विकेट चटकाए.

ढ़ह गया ऑस्ट्रेलिया का बैटिंग-लाइनअप

ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी में पहला विकेट आरोन फिंच(62) का 142 रन के कुल योग पर गिरा. उसके बाद जो हुआ, कम से कम ऑस्ट्रेलियाई टीम से अपेक्षा नहीं की जाती. पाकिस्तान के डेब्यूटेंट बिलाल आसिफ के 36 रन देकर लिए गए 6 विकेटों नें मेहमान टीम को केवल 202 पर ऑलआउट कर दिया. मतलब अंतिम दस विकेट महज 60 रन जोड़ पाए. उस्मान ख्वाजा नें सबसे ज्यादा 85 रन बनाए. दूसरी पारी में 280 रनों की लीड के साथ खेलनें उतरी पाकिस्तान नें चौथे दिन दूसरे सत्र में 6 विकेट पर 181 बनाकर पारी घोषित कर दी.

ख्वाजा- पेन नें पाकिस्तान को रूलाया

जवाब में 461 का लक्ष्य लेकर उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम को एकबार फिर ख्वाजा और फिंच नें 87 रनों की ओपनिंग दी. लेकिन मोहम्मद अब्बास नें जैसे हीं फिंच को आउट किया, मार्श बंधु शॉन और मिचेल 0 पर चलते बने. पाँचवे दिन 137 पर 3 से आगे खेलते हुए उस्मान ख्वाजा नें दुबई में चौथे पारी की सबसे लंबी नॉक खेली. 141 रन 302 गेंदो में. उनका साथ दिया ट्रेविस हेड 72(175) नें. इसके बाद जिम्मा संभाला कप्तान टिम पेन नें, 61 रनों के लिए 194 गेंद खेलकर, नाथन लियोन (5*) के साथ न केवल दो विकेट से मैच बचाया बल्कि ऑस्ट्रेलिया की एशियाई धरती पर सबसे लंबी चौथी पारी का इतिहास बनानें में अहम भूमिका निभाई.

ऑस्ट्रेलिया नें ड्रॉ कराने के लिए चौथी पारी में 139.5 ओवर बैटिंग की, जिसमें 8 विकेट पर 362 रन बनाए. ध्यान रखिए, ख्वाजा, पेन और हेड नें क्रमशः कुल 50.2, 32.2, 29.1 ओवर बैटिंग की, मतलब 139.5 ओवर में से 111.5 ओवरों को इन तीनों नें खेला. एशिया कप की हार से पीड़ित पाकिस्तान के जबड़े में से पेन एंड ख्वाजा कंपनी नें जिस तरह जीत छीनी, वह टेस्ट क्रिकेट के रोमांच का संकेत दे रही है.

राइटर्स कॉर्नर:- कौन सा क्रिकेटप्रेमी होगा जो ऑस्ट्रेलिया को पुरानें रूप में नहीं देखना चाहता होगा. पुरानी अजेय टीम के जस्टिन लैंगर अभी टीम के कोच हैं, और इस ऐतिहासिक प्रदर्शन के साथ जिस तरह पेन एंड कंपनी नें दृढ़ता दिखाई है, तारीफे लायक है. नई ऑस्ट्रेलियाई टीम का इस तरह टेस्ट ड्रॉ कराना भर हीं टेस्ट क्रिकेट के लिए शुभ संकेत दे रहा है.

678 total views, 1 views today

Facebook Comments

Leave a Reply