मोहम्मद सिराज: भारतीय पेस बॉलिंग अटैक के मुहानें पर एक नई दस्तक!
खेल

मोहम्मद सिराज: भारतीय पेस बॉलिंग अटैक के मुहानें पर एक नई दस्तक!

तारीख 2 सितंबर, दिन रविवार.. एक तो छुट्टी का दिन और साथ में पावन जन्माष्टमी का त्यौहार आकर्षक बना रहा था. इसके साथ हीं पूरे 'क्रिकेटिया' भारत की नजर, इंग्लैंड के साउथम्पटन पर टिकी थी, जहाँ इंडियन बैट्समैन, एक दिल तोड़नेवाली हार देनें को तैयार बैठे थे और तब राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण की याद आनी तय थी.

लेकिन साउथम्पटन से 'सात समुंदर' पार द्रविड़ के शहर 'बेंगलूरू' में, लक्ष्मण के गृहनगर 'हैदराबाद' का छोरा कमाल कर रहा था. हैदराबाद की तंग गलियों के गरीब परिवार का एक लड़का मोहम्मद सिराज, उस ऑस्ट्रेलियन बैटिंग लाइनअप की खबर ले रहा था जिसके केवल एक-दो खिलाड़ियों को हीं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का अनुभव नहीं था.

इसमें से ज्यादातर खिलाड़ी भारत के आगामी ऑस्ट्रेलिया दौरा पर खेलते नजर आयेंगे. तेज गति के गेंदबाज सिराज, इंडिया ए की तरफ से ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ खेल रहे थे. टी20 में 3 मैच खेलनें चुके सिराज अबतक इंटरनेशनल लेवल पर प्रभावित नहीं कर पाए हैं. हालांकि आईपीएल में उनका परफॉर्मेंस कई मर्तबा जबर्दस्त रहा है. टॉस जीतकर बैटिंग कर रही मेहमान टीम की कमर अकेले सिराज नें हीं तोड़कर रख दी.

तब जबकि उनके साथ रजनीश गुरबानी, कुलदीप यादव और अंकित राजपूत जैसे युवा लेकिन परिपक्व गेंदबाज मौजूद थे. 78 रनों के टीम स्कोर पर सिराज नें कर्टिस पैटर्सन को बोल्ड करके अपना और टीम का खाता खोला और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. उसके बाद एक एक करके ट्रेविस हेड, पीटर हैंड्सकॉंब, मिचेल मार्श, लाबुसचेन, माइकल निसर, क्रिस ट्रीमैन, और अंत में शतकवीर उस्मान ख्वाजा को आउट करके सिराज नें करियर बेस्ट बॉलिंग फीगर दर्ज किया.

नजर डालिए 19 ओवर 3 गेंद में सात मेडन ओवर के साथ 59 रन देकर आठ विकेट.. यह सिराज के लिए अभूतपूर्व प्रदर्शन है, क्योंकि स्पिनर को मदद देनें वाली पिच पर एक पारी में 8 विकेट चटकाना साधारण नहीं है. इससे पहले भी चार टीमों के वनडे सीरिज, जिसमें दो भारत और एक एक ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका ए की टीमें थी, सिराज नें मैच जिताऊ परफॉर्मेंस दिया.

इस साल के अंत में भारत को ऑस्ट्रेलिया का महत्वपूर्ण दौरा करना है. ऐसे में जब भारतीय पेस बैट्री पहले अफ्रीका और अब इंग्लैंड में गजब ढ़ा रही है, उस लाइनअप में एक नया सितारा मिलना खुशी की बात है. जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा, मुहम्मद शमी, उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, शार्दुल ठाकुर के बाद अब मोहम्मद सिराज को देखकर भारतीय गेंदबाजी का भविष्य उज्जवल नजर आ रहा है. लेकिन जरूरत है प्रदर्शन में इसी तरह के निरंतरता की.

Facebook Comments

Leave a Reply