तमीम इकबाल ने टूटे हाथ से की बैटिंग
खेल

मैच के दौरान हाथ टूटने के बाद तमीम इकबाल ने जो किया वो क्रिकेट के लिए एक मिसाल है

एशिया में क्रिकेट खेलनें वाले टॉप 6 देशों के बीच एशिया कप आज हीं यूएई में शुरू हुआ है. इसबार यह वनडे फॉर्मेट पर खेला जा रहा है. पहले हीं दिन एशिया कप में कुछ ऐसा हुआ जिसनें एक नई मिसाल पेश की है. साथ हीं क्रिकेट प्रशंसकों और बांग्लादेश को बहुत बड़ा झटका लगा है.

ऐसा हुआ क्या:-

टूर्नामेंट के पहले मैच के पहली पारी के दूसरे ओवर की अंतिम बॉल, बॉलिंग कर रहे थे श्रीलंका के अनुभवी पेसर सुरंगा लकमल. सामनें थे बांग्लादेश के लिए टॉप फॉर्म में चल रहे अनुभवी ओपनर तमीम इकबाल. इससे पहले दो बांग्ला बैट्समैन लिटन दास और शाकिब का विकेट मलिंगा नें पहले हीं ओवर में श्रीलंका की झोली में डाल दिया था. रहीम के साथ तमीम खेल रहे थे. लकमल की वह गेंद बॉडी लाइन पर की गई शॉर्ट ऑफ लेंथ बॉल थी लेकिन तमीम उसे पुल करना चाहते थे. शॉट खेलनें में वे पूरी तरह चूक गए और गेंद आकर लगी सीधे उनके बायीं कलाई पर. तमीम दर्द से बुरी तरह कराह रहे थे, टीम फिजियो मैदान पर पहुँचे. लेकिन तमीम इकबाल को दर्द से राहत नहीं मिल रही थी. अंत में उन्होनें रिटायर्ड हर्ट होकर जाने के फैसला किया.

यह भी पढ़ेंसिर्फ एक कान से ही सुन पाता है ये भारतीय क्रिकेटर

अनोखा क्या:-

इसके लिए अब हम आपको दूसरी तरफ लिए चलते हैं... 47वें ओवर की 5वीं गेंद, नौवें विकेट के रूप में मुस्ताफिजुर रहमान आउट होकर पवेलियन लौट गए लेकिन कप्तान रहीम एक छोर पर खड़े थे. आखिरी विकेट बचा था रिटायर्ड हर्ट हुए तमीम का. एक हाथ सीनें के सामनें उठाए, दूसरे हाथ में बैट लिए तमीम मैदान में आ रहे थे.

उनके बायीं कलाई में पट्टी थी, इस कारण गलव्स काटकर लगाया गया था. मैदान पर चोटिल तमीम को देख सबकी आँखे फटी की फटी रह गयी. क्योंकि पहले हीं यह खबर आ चुकी थी कि तमीम का कलाई टूट गई है और अब वह एशिया कप में नहीं खेल पायेंगे. ऐसे में उनका टूटे हुए कलाई के साथ मैदान पर उतरना उनके दृढ़ इच्छाशक्ति की मिसाल पेश करता है. 47वें ओवर की अंतिम गेंद का सामना उन्हें हीं करना था, सामनें गेंदबाज भी लकमल हीं थे. तमीम इकबाल नें उस शॉर्ट गेंद को एक हाथ से जैसे तैसे झेल लिया. हालांकि उसके बाद रहीम नें उन्हें स्ट्राइक पर नहीं लाया.

मायनें क्या:-

तमीम का हालिया बैटिंग एवरेज 83 के लगभग रहा है जो उनके बैटिंग फॉर्म को बयां करता है. ऐसे में उनका बाहर होना बांग्लादेशी टीम के लिए बहुत बड़ा झटका है. बात अगर तमीम के टूटे हाथ से बैटिंग करनें की हो तो यह अपनें आप में एक जीवट भरा उदाहरण है जिससे नए क्रिकेटर बहुत कुछ सीख सकते हैं. साथ हीं इस घटना नें साउथ अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ की याद दिला दी जिन्होनें टीम के लिए टूटे हाथ से बैटिंग की थी.

Facebook Comments
Ankush M Thakur
Alrounder, A pure Indian, Young Journalist, Sports lover, Sports and political commentator
http://www.thenationfirst.com

Leave a Reply