सुप्रीम कोर्ट बुजुर्गों को लिए फिक्रमंद, कहा- पेंशन समय से मिले

देश के सर्वोच्च न्यायालय ने बुजुर्गों की देखरेख को ले कर चिंता जताई है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि देश मे बुजुर्गों को उनकी पेंशन सही समय पर दी जानी चाहिए। जो बुजुर्ग वृद्धाश्रम में हैं उन्हें महामारी की वजह से उनके सेहत को ध्यान में रखते उन्हें पीपीई, सैनिटाइजर और मास्क प्रदान किए जाने चाहिये।

चंद्रशेखर तिवारी कैसे बन गए आज़ाद, काफ़ी रोचक है कहानी

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि “बुजुर्ग लोग परेशानियों का सामना कर रहे हैं और प्रशासन को इस बात के लिए कदम उठाने चाहिए कि जहां उन्हें जरूरत हो, मदद पहुंचाई जाए। अधिकारियों को उन्हें समय पर पेंशन का भुगतान सुनिश्चित करना चाहिए और वृद्धाश्रमों में रहने वालों को पीपीई किट दी जानी चाहिए।” न्यायमूर्ति अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी कुमार की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि बुजु्र्गो को समय से पेंशन का भुगतान किया जाना चाहिए।

कोरोना से जुड़ी व्यवस्था से खुश नही है सुप्रीम कोर्ट, कहा- एक हो देश भर में टेस्टिंग की कीमत

आपको बता दें कि केंद्र की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता वी मोहन ने पीठ से कहा कि राज्य सरकारें इस दिशा में प्रयास कर रही हैं। मोहन ने याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिए जब एक सप्ताह का समय मांगा तो कुमार ने विरोध करते हुए कहा कि इस मामले में तत्काल कार्रवाई की जरूरत है। पीठ ने एक अन्य याचिका पर भी सुनवाई की जिसमें कोरोना वायरस संक्रमित बुजुर्गों का उपचार बिना भेदभाव के करने का निर्देश देने की मांग की गई है। पीठ ने राज्यों को याचिका पर जवाब दाखिल करने का भी निर्देश दिया।

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी हुए कोरोना पॉजिटिव, मेदांता में हुए भर्ती

कोरोना काल मे अपने कर्तव्यों में लापरवाही बरतने वालों पर होगी कड़ी करवाई, डीएम ने दिए आदेश

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply