बिहार: सुशील मोदी ने केंद्र से मांगा अगले तीन महीने का मुफ्त राशन

बिहार कोरोना की मार से उबरने की हरसंभव कोशिश कर रहा है । कोरोना मरीज़ों के दिन पर दिन बढ़ती संख्या को देखते हुए लॉकडाउन अभी भी बहुत से जगहों पर असर में है ।इसी बीच बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने प्रवासी कल्याण योजना के तहत गरीबों को और तीन महीने तक मुफ्त राशन देने की मांग की है।

आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बातचीत के दौरान ये मांग की है। सुशील कुमार मोदी ने आग्रह किया है कि कोरोना संकट के दौरान अप्रैल-जून की तरह अगले तीन महीने जुलाई-सितंबर के लिए भी गरीबों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत मुफ्त राशन दिया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन का प्रभाव अभी भी कुछ हद तक बरकरार है और गरीबों को जीवन यापन में मुश्किलें आ रही हैं।

आंकड़ो में बता दें कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान बिहार के 8.71 करोड़ गरीबों को 3 महीने तक प्रति महीने 5-5 किलो यानी 15 किलो चावल 28 रु। बाजार मूल्य की दर से 5057.30 करोड़ का तथा 1.68 करोड़ परिवारों को 120 रु. किलो की दर से 610 करोड़ रु. की प्रति महीने 1-1 किलो यानी 3 किलो अरहर दाल मुफ्त में दिया गया है ।

मोदी ने बताया कि इसके अलावा अन्य प्रदेशों से आए श्रमिकों व गैर राशनकार्डधारी 86 लाख 40 हजार लोगों को मई और जून में प्रति महीने 5-5 किलो यानी 10 किलो चावल और 2 किलो चना कुल 337.15 करोड़ रु. का मुफ्त में दिया गया। लॉकडाउन के दौरान कुल 6024.45 करोड़ के राशन वितरण से गरीबों को बड़ी राहत मिली।

सुशील मोदी के अनुसार अगर इसी प्रकार और अगले तीन महीने के लिए भी मुफ्त राशन वितरण किया गया तो गरीबों को न केवल बड़ी राहत मिलेगी बल्कि लॉकडाउन के प्रभाव और बाढ़ व सूखे की असामन्य स्थितियों से भी मुकाबला करने में वे सक्षम होंगे।।

योगी सरकार का फैसला, 26 जून को देगी एक करोड़ लोगों को रोजगार

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

The Nation First

द नेशन फर्स्ट एक हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है जो देश-दुनिया की खबरों के साथ-साथ राजनीति, मनोरंजन, अपराध, खेल, इतिहास, व्यंग्य से जुड़ी रोचक कहानियां परोसता है.

Leave a Reply