इतिहास के पन्नों से जरा हटके

1857 की वो क्रांतिकारी जो दिन में अंग्रेजो से लड़ती और रात में उन्हीं के छावनियों में नाचती थी

1857 की क्रांति तो आप सबों ने पढ़ा ही होगा इस क्रांति को किसी ने धार्मिक क्रांति ,किसी ने सामाजिक क्रांति तो किसी ने इसे सिपाही विद्रोह कह कर संबोधित किया था साथ ही विद्वानों का ये भी मानना था कि अगर यह विद्रोह टुकड़ों में ना होकर एक साथ लड़ा जाता तो शायद देश […]

इतिहास के पन्नों से कहानी देश

हिंदुस्तान का वो क्रांतिकारी जो अपने बुढ़ापे में भी अंग्रेजो के लिए काल बना

वैसे तो बिहार की धरती ने कई वीर योद्धाओं को जन्म दिया है लेकिन आज मैं एक ऐसे वीर योद्धा की बात कर रहा हुं जो हर मायने मे खास था जिसने अपने युद्ध कला से अंग्रजों के पसीने छुड़ा दिए . और ये कभी अंग्रजों के हाथ नही आए । अंग्रेजों ने जब-जब इन्हें […]