योगी सरकार का फैसला, 26 जून को देगी एक करोड़ लोगों को रोजगार

कोविड-19 की महामारी वाले वक्त में जहाँ लोगों के रोजगार को करारी चोट पहुंची है वही उत्तर प्रदेश से ख़बर आ रही कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 26 जून को एक साथ एक करोड़ लोगों को रोजगार देकर नया रिकॉर्ड बनाएंगे। 26 जून को इसे लेकर एक बड़ा आयोजन रखा गया है। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी शामिल होने की खबर है। हालांकि प्रधानमंत्री ऑनलाइन ही इस कार्यक्रम में शामिल हो सकेंगे।

आपको बता दें एक साथ एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देने वाला उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य होगा। इसी दिन एमएसएमई इकाइयों को कर्ज भी दिया जाएगा।मुख्यमंत्री ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक कर इसकी समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम की स्वीकृति दे दी है।

मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश में प्रवासी कामगारों की आमद के साथ ही हर हाथ को काम, हर घर में रोजगार की तैयारी कर ली थी। राज्य सरकार इसी सूत्र वाक्य के साथ आगे बढ़ी। यही वजह है कि राज्य में प्रवासी कामगारों के आने के साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने सभी की स्किल मैपिंग कराने के निर्देश जारी किए थे। श्रमिकों को सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के दौरान उनके भोजन और स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था की। साथ ही क्वारटींन सेंटर में ही उनके स्किल मैपिंग का भी इंतजाम किया गया।

उत्तर प्रदेश सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगार का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है। योगी सरकार इन कामगारों को एमएसएमई, एक्सप्रेस वे, हाइवे, यूपीडा, मनरेगा आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार से जोड़ भी चुकी है। अब ये आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंचने वाला है। प्रदेश में एमएसएमई इकाई से क्षमता बढ़ाने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के लिए 5 मई को 57 हजार से अधिक इकाईयों को ऑनलाइन लोन दिया गया। 26 जून के कार्यक्रम में भी एमएसएमई को लोन दिया जाएगा।

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

योगी आदित्यनाथ को मिली बम से उड़ाने की धमकी, बढाई गई मुख्यमंत्री आवास सुरक्षा

दुश्मन देश भी हुआ योगी आदित्यनाथ का कायल, कुछ इस तरह की तारीफ

Facebook Comments

Leave a Reply