किसान आंदोलन पर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा- अगर अरुण जेटली आज जिंदा होते तो…

नए कृषि कानूनों को लेकर देश में आंदोलन तेज हो गया है। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों को किसान लगातार रद्द करने की मांग कर रहे हैं तो वहीं केंद्र सरकार इसे किसानों के हित में बता रही है। किसान संगठन और सरकार के बीच तकरार जारी है। विपक्षी पार्टियां भी इस कानून को काला कानून बताकर मोदी सरकार पर हमला बोल रही है। इसी बीच कृषि कानून पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी के एक बयान ने आग में घी डालने का काम किया है। दरअसल, सोमवार को सुशील मोदी ने पार्टी के दिवंगत नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की जयंति पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि अगर अरुण जेटली जिंदा होते तो किसानों का आंदोलन इतने लंबे समय तक नहीं चलता, वह कोई न कोई समाधान निकाल लेते।

‘लोग उन्हें ओजस्वी व्यक्तित्व…हाजिरजवाबी के लिए याद करेंगे’

बीजेपी नेता ने सोमवार को कहा, ‘मैं आश्वस्त हूं कि अरुण जेटली आज जीवित होते तो किसान जिस तरह की समस्याओं का सामना कर रहे हैं, जिसको लेकर आंदोलन चल रहा है, वह निश्चित रुप से इसके लिए समाधान तलाश लेते।‘ वहीं, दूसरी ओर पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए अरुण जेटली को याद किया। उन्होंने कहा ‘मैं अपने मित्र अरुण जेटली जी को उनकी जयंती पर याद कर रहा हूं। उनके ओजस्वी व्यक्तित्व, बुद्धिमता, कानूनी समझ और हाजिरजवाबी को वे सभी लोग याद करते हैं, जिन्होंने उनसे निकटता से बातचीत की है। उन्होंने भारत की प्रगति के लिए अथक मेहनत की।’

मंगलवार को किसानों से बात करेगी सरकार

बता दें, केंद्रीय मंत्रियों के साथ किसान नेताओं की कई दौरे की बैठके हो चुकी है। केंद्र सरकार ने कानून में संशोधन की बात कही है लेकिन कानून को निरस्त करने की मांग को अस्वीकार कर दिया है। कई किसान संगठन पिछले 26 नवंबर से ही दिल्ली के बॉर्डरों पर डेरा डाले हुए हैं और इस नए कृषि कानून को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं। सरकार किसानों को मनाने और कानूनों को लेकर गतिरोध समाप्त करने में नाकाम रही है। किसान अब भी कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं। किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच मंगलवार को एक बार फिर से बैठक होनी है। हालात, क्या होंगे यह आने वाला वक्त ही बताएगा।

नए कृषि कानूनों पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को बीजेपी की खुली चुनौती

बिहार की वो सांसद जिन्होंने गरीबों के लिए दान कर दी थी अपनी 500 बीघा जमीन

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply