बंगाल बीजेपी अध्यक्ष ने फहराया उल्टा तिरंगा झंडा, टीएमसी ने बताया- ‘अयोग्य’

पश्चिम बंगाल में आने वाले कुछ ही महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिसे लेकर राजनीतिक पार्टियों ने अपनी तैयारियां काफी तेज कर दी है। ममता बनर्जी बंगाल में लगातार तीसरी बार चुनाव जीतकर सरकार बनाने की कोशिशों में लगी है। तो वहीं, दूसरी ओर इस बार भारतीय जनता पार्टी से टीएमसी को कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। टीएमसी में जारी अंदरुनी कलह भी निकल कर सामने आ गई है।

पार्टी के कई दिग्गज नेता बीजेपी में शामिल हो गए हैं और अन्य भी कई नेताओं के बीजेपी में शामिल होने की उम्मीद जताई जा रही है। इसी बीच बीते दिन मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी बंगाल के अध्यक्ष दिलीप घोष ने गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के दौराम एक पार्टी कार्यालय में उल्टा तिरंगा फहरा दिया। जिसे लेकर टीएमसी, बीजेपी पर हमलावर है।

यह भी पढ़ें: लाल किले पर झंडा फहराने वाला दीप सिद्धू है बीजेपी का कार्यकर्ता- राकेश टिकैत

जानें, क्या था पूरा मामला?

इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए टीएमसी नेता ने बीजेपी को निशाने पर लिया। टीएमसी नेता अनुब्रत मंडल ने कहा कि जो लोग राष्ट्रीय ध्वज ठीक से नहीं फहरा सकते, वे देश या किसी राज्य को चलाने के अयोग्य हैं। दरअसल, बंगाल के बीरभूम जिले के रामपुरहाट कार्यालय में दिलीप घोष ने उल्टा तिरंगा झंडा फहरा दिया। हालांकि, ध्वज फहराने के तुरंत बाद उन्हें अहसास हुआ कि तिरंगा उल्टा है और बाद में उसे ठीक से फहरा कर अपनी गलती सुधारी।

जिसके बाद बंगाल बीजेपी प्रमुख ने मीडिया से कहा कि यह एक शर्मनाक क्षण था और यह अनजाने में गलती से हुआ। उन्होंने कहा, किसी का इरादा राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने का नहीं था। दिलीप घोष ने स्पष्ट कर दिया है कि उन्होंने पार्टी के सदस्यों से भविष्य में सावधान रहने को कहा है।

बंगाल में कांटे की टक्कर

बता दें, इन दिनों बंगाल की सियासत में भूचाल मचा हुआ है। राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे की किसी भी प्रकार की गलती को इग्नोर करने के मूड में नहीं है। बताया जा रहा है कि ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस इस बार फिर से अकेले ही अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। जबकि कांग्रेस और लेफ्ट पार्टी गठबंधन में चुनाव लड़ने वाली है। हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन भी बंगाल के दंगल में उतरने वाली है। वहीं, केंद्र की सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी से भी ममता बनर्जी को कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है।

गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा पर क्या बोली राजनीतिक पार्टियां?

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *