बंगाल चुनाव: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने किया ओवैसी का समर्थन! कहा- उन्हें राज्य में संगठित होने का अधिकार

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 को लेकर प्रदेश की राजनीतिक गलियारों में हलचले तेज हो गई है। सत्तारुढ़ औऱ विपक्षी पार्टियों के बीच जमकर बयानबाजियां हो रही है। बंगाल की सत्तारुढ़ पार्टी टीएमसी के नेता और कार्यकर्ता राज्य में पार्टी को मजबूत करने में लगे हैं। तो वहीं, देश की सत्तारुढ़ पार्टी बीजेपी भी अपनी तैयारियों को अंतिम स्वरुप दे रही है।

बीजेपी के नेता काफी पहले से ही पश्चिम बंगाल में सरकार बनाने का दावा करते आ रहे हैं। इसी बीच पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष का एक बयान काफी सुर्खियों में है। उन्होंने कहा है कि मुसलमान उन सभी राज्यों में सुरक्षित हैं जहां बीजेपी सत्ता में है। साथ ही उन्होंने ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए कहा कि बंगाल के मुसलमानों को दीदी की पुलिस ने डराया है।

‘ममता सरकार ने मुस्लिमों को तरक्की नहीं करने दी’

बीते दिन मंगलवार को स्वामी विवेकानंद जयंती पर आयोजित हावड़ा में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष ने यह बात कही। उन्होंने अल्पसंख्याकों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं है। मुसलमान उन सभी राज्यों में सुरक्षित हैं जहां बीजेपी सत्ता में है। दिलीप घोष ने प्रदेश की ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रदेश के मुस्लिमों को दीदी की पुलिस ने धमकाया है और डराया है, उन्हें यहां की सरकार ने तरक्की नहीं करने दी। साथ ही उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में भी पीछे रखा गया है।

ओवैसी को राज्य में संगठित होने का अधिकार’

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने बंगाल में बेरोजगारी के मुद्दे पर भी ममता सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, राज्य में कोई विकास नहीं हुआ है, यहां के अल्पसंख्यक लोग भारत के सभी राज्यों से पीछे हैं। इस राज्य के युवकों को काम की तलाश में अन्य राज्यों में जाना पड़ रहा है।

दिलीप घोष ने बंगाल में अब्बास सिद्दकी की पार्टी के गठन और एआईएमआईएम के अध्य़क्ष असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के चुनाव लड़ने पर भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी को राज्य में संगठित होने का अधिकार है।

विधानसभा चुनाव 2021 में हिस्सा लेगी AIMIM

बता दें, इस साल मई-जून के महीने में पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिसे लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां प्रदेश में सक्रिय हो गई है। खासकर बीजेपी और टीएमसी के बीच जुबानी जंग चरम पर है। दोनों ही पक्षों की ओर से जमकर बयानबाजियां हो रही है। वहीं, दूसरी ओर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में हिस्सा लेने का ऐलान कर दिया है। जिससे प्रदेश की छोटी और क्षेत्रीय पार्टियों में हलचल तेज हो गई है।

केंद्र से वैक्सीन फ्री नहीं मिलने पर अपने खर्च पर दिल्ली वालों को कोरोना टीका लगवाएगी केजरीवाल सरकार

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply