किसान आंदोलन के समर्थन में बिहार में आज मानव श्रृंखला, राजनीतिक पार्टियां आमने-सामने

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों का विरोध किसानों के साथ-साथ लगभग सभी विपक्षी पार्टियां भी कर रही है। बिहार में भी इस मामले पर नीतीश कुमार की चुप्पी को लेकर राजनीतिक गलियारों में हलचले तेज है। बिहार में महागठबंधन ने आज शनिवार को मानव श्रृंखला का आयोजन किया है।

बताया जा रहा है कि आज राज्य के हर गांव के चौक-चौराहों पर मानव श्रृंखला बनाई जाएगी औऱ साथ ही इसके जरिए लोगों को कृषि बिलों की खामियों के बारे में बताया जाएगा। मानव श्रृंखला को लेकर भी तरह-तरह की बयानबाजियां हो रही है। बीते दिन बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने विपक्षी पार्टियों को निशाने पर लिया। तो वहीं दूसरी ओर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार और बिहार सरकार पर जमकर हमला बोला।

मानव श्रृंखला की कड़िया बनने से पहले बिखर जाएगी

बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शुक्रवार को कहा ‘भारत विरोधी एजेंडा चलाने वाले बिचैलियों, खालिस्तानियों का साथ देकर कांग्रेस, राजद और वामदल पूरी तरह बेनकाब हो चुके हैं। ये लोग बिहार में गणतंत्र के शत्रुओं का दुस्साहस बढ़ाने के लिए जो मानव श्रृंखला बनाने वाले हैं, उसकी कड़ियां बनने से पहले बिखर जाएंगी।’

उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा, ‘बिहार की राजग सरकार ने 2006 में किसानों को मंडी में फसल बेचने की बाध्यता से मुक्ति दिलायी, कृषि रोड मैप लागू किया, पहली बार किसान महापंचायत बुलाकर विशेषज्ञों की राय ली, कृषि उपकरणों की खरीद पर सब्सिडी दी और 2018 में हर गांव तक बिजली पहुंचाकर डीजल पम्प से सिंचाई का बोझ खत्म किया।‘

मुख्यमंत्री चुप क्यों है?

वहीं, दूसरी ओर आरजेडी नेता और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि कृषि कानूनों के जरिए किसानों की जमीन पूंजीपतियों को सौंपने की तैयारी है। उन्होंने कहा, बचपन से जय जवान-जय किसान का नारा सुनते आए थे लेकिन, भाजपा सरकार फंडदाताओं के लिए जवान और किसान को ही आपस में लड़वा रही है। महागठबंधन शुरुआत से किसानों के संघर्ष में साथ खड़ा है।

तेजस्वी ने कहा, सरकार यह भूल गई है कि जवान भी किसान परिवारों से ही हैं, उनमें भी आक्रोश है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा, महागठबंधन के साथी पूछना चाहते हैं कि मुख्यमंत्री चुप क्यों है? उन्हें बताना चाहिए कि वह तीनों कृषि कानून किसानों के हित में हैं या नहीं। उन्होंने कहा, मानव श्रृंखला हमारे संघर्ष का अंत नहीं है, संघर्ष जारी रहेगा।

पंजाब में पाकिस्तान की ओर से भेजे जा रहे हथियार और पैसे, सीएम अमरिंदर सिंह ने केंद्र को किया अलर्ट

किसान आंदोलन में बिजली-पानी बंद करने को लेकर बीजेपी पर बरसे मनीष सिसोदिया

अयोध्या में बन रही मस्जिद पर ओवैसी का बयान, कहा- उसमें नमाज पढ़ना हराम, चंदा देना भी गलत

हरियाणा में बीजेपी को लगा बड़ा झटका, किसानों के समर्थन में 3 बार विधायक रह चुके नेता ने छोड़ी पार्टी

जिस व्यक्ति पर देश का बच्चा-बच्चा हंसता है, उसे प्रधानमंत्री बनाने का सपना देखती है उसकी अम्मा- प्रज्ञा सिंह

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply