जीतन राम मांझी की बीजेपी को नसीहत, कहा- ऐसी गलती दोबारा न हो

बिहार की राजनीति में उठापटक तेज हो गई है। जदयू-बीजेपी के बीच चल रही सियासी खींचतान का परिणाम क्या होगा, इस पर सस्पेंस बरकरार है। हालांकि, जदयू की ओर से लगातार इस बात का दावा किया जा रहा है कि अरुणाचल प्रदेश की घटना से पार्टी आहत जरुर है लेकिन वो बीजेपी के साथ मिलकर बिहार में अपना कार्यकाल पूरा करेगी। इसी बीच नीतीश कुमार के समर्थन में आए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बीजेपी को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा है कि अरुणाचल प्रदेश में जो हुआ, वह स्वच्छ राजनीति का तकाजा नहीं है। उन्होंने बीजेपी को निशाने पर लेते हुए कहा कि ऐसी गलती दोबारा न हो।

‘हम’ मजबूती के साथ नीतीश के साथ

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा,‘अरुणाचल प्रदेश में जो हुआ वह स्वच्छ राजनीति का तकाजा नहीं है। बीजेपी नेतृत्व से अनुरोध है कि ऐसी गलती दोबारा ना हो इसका ख्याल रखें। नीतीश कुमार जी को कमजोर समझने वालों को शायद नहीं पता कि हम मजबूती से उनके साथ है।‘ हम बिहार की क्षेत्रीय पार्टी है। इस पार्टी ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 से ठीक पहले महागठबंधन से नाता तोड़कर नीतीश कुमार को समर्थन देने का फैसला लिया था।


दरअसल, पिछले दिनों अरुणाचल प्रदेश में जदयू के 6 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए। जिसके बाद से ही बिहार की सियासत में हड़कंप मचा हुआ है। बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी ने नीतीश को खुला ऑफर देकर रिझाने की कोशिश की है। आरजेडी ने कहा है कि नीतीश कुमार एनडीए से अलग होकर तेजस्वी को मुख्यमंत्री बनाए और पार्टी उन्हें लोकसभा चुनाव 2024 में महागठबंधन की ओर से सीएम फेस बनाने का प्रयत्न करेगी।

‘बीजेपी की कार्यशैली से नाराज है जदयू विधायक’

बता दे, कुछ दिनों पहले बिहार की राजधानी पटना में जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने अरुणाचल समेत कई मुद्दों पर बीजेपी के खिलाफ नाराजगी जाहिर की थी। जिसके बाद से इस बात की चर्चा तेज हो गई कि बिहार में एनडीए गठबंधन में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। बीते दिन बुधवार को आरजेडी नेता श्याम रजक ने दावा किया था कि जदयू के 17 विधायक आरजेडी के संपर्क में है और वे जल्द ही आरजेडी में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि बीजेपी की कार्यशैली से नाराज जदयू के विधायक बिहार की एनडीए सरकार को गिराना चाहते हैं।

बिहार की राजनीति में मचा बवाल, आरजेडी की जदयू को चुनौती- बचा सकते हो तो बचा लो अपने विधायक

नीतीश की बढ़ी मुश्किलें, श्याम रजक का दावा जदयू के 17 विधायक आरजेडी में जाने को तैयार

BJP-JDU के रिश्तों में खटास, आरजेडी ने तेजस्वी यादव को सीएम बनाने के लिए समर्थन मांगा

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply