नहीं रही सुषमा स्वराज, दिल का दौरा पड़ने से निधन

भाजपा की कुशल नेत्री, प्रखर वक्ता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का दिल्ली के एम्स में निधन हो गया है. वह 67 वर्ष की थी. मंगलवार देर शाम उनकी तबियत बिगड़ने के चलते उन्हें दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती किया गया था ।

गौरतलब है की पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीयत ख़राब चल रही थी. इसी वजह से उन्होंने लोकसभा का चुनाव भी नहीं लड़ा था. उन्हें 9 बजकर 50 मिनट पर एम्स लाया गया. उनका परिवार उनको एम्स लेकर आया लेकिन ईलाज के दौरान दिल का दौरा पड़ने से दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। सुषमा स्वराज के निधन की खबर सुनते ही डॉ. हर्षवर्धन, नितिन गडकरी, मनोज तिवारी एम्स पहुंचे थे ।

सुषमा लंबे समय से बीमार चल रही थीं। सुषमा स्वराज का किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। बीमारी की वजह से ही उन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव से खुद को अलग रखा था। वर्ष 2014 में सुषमा स्वराज को विदेश मंत्रालय का प्रभार मिला था। बीजेपी के शासन के दौरान सुषमा दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रही थी। उन्हें दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ था।

निधन से करीब चार घंटे पहले ही सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर संसद में जम्म कश्मीर पुनर्गठन विधेयक पारित होने को लेकर खुशी जताई थी और प्रधानमंत्री की तारीफ की थी। सुषमा ने अपने आखिरी ट्वीट में लिखा- ‘प्रधान मंत्री जी – आपका हार्दिक अभिनन्दन. मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी।’ वहीं एक अन्य ट्वीट में उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह को बधाई दी थी। उन्होंने लिखा- श्री अमित शाह जी को उत्कृष्ट भाषण के लिए बहुत बहुत बधाई।

सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को हुआ था। उन्होंने अंबाला में एसडी कॉलेज अम्बाला छावनी से बीए किया और पंजाब यूनिवर्सिटी से चंडीगढ़ से लॉ की पढ़ाई की थी। सुषमा स्वराज ने 1974 के छात्र आंदोलन में भी बढ़-चढकर हिस्सा लिया था।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *