जिस व्यक्ति पर देश का बच्चा-बच्चा हंसता है, उसे प्रधानमंत्री बनाने का सपना देखती है उसकी अम्मा- प्रज्ञा सिंह

बम धमाकों की आरोपी बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर आये दिन अपने बयानबाजियों को लेकर सुर्खियों में रहती है। कभी अपनी ही पार्टी पर अप्रत्यक्ष रुप से हमला बोलती हैं तो वहीं दूसरी विपक्षी पार्टियों को निशाने पर लेने से नहीं चूकती। लोकसभा चुनाव 2019 में उन्होंने भोपाल लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीता और पहली बार संसद पहुंची।

वह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की तारीफों के भी कसीदें पढ़ चुकी है। इसी बीच उन्होंने देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने बिना नाम लिए ही इन दोनों नेताओं को निशाने पर लिया।

जिसकी शादी को लेकर मजाक बनाया जाता है…

बीते दिन बुधवार को अपने संसदीय क्षेत्र भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कांग्रेस नेताओं पर हमला बोला। बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, जिस व्यक्ति पर देश का बच्चा-बच्चा हंसता है, वह और उसकी इटली में बैठी अम्मा अपनी औलादों को प्रधानमंत्री बनाने का सपना देख रही है। उन्होंने कहा, जिस व्यक्ति पर हमारे देश का बच्चा-बच्चा हंसता है, जहां उसकी शादी को लेकर मजाक बनाया जाता है, ऐसा व्यक्ति प्रधानमंत्री बनने का सपना देखता है।

बीजेपी सांसद ने कहा, एक बार लड़कियों से पूछा गया कि उस व्यक्ति से शादी करोगे तो उसका लड़कियों ने खूब मजाक उड़ाया। उसकी अम्मा भी दूर देश इटली से भारत में अपनी औलादों को प्रधानमंत्री बनाने के सपने देख रही है। उन्होंने आगे कहा, “ये सनातनी राष्ट्र है, यहां राष्ट्रभक्ति पैदा नहीं की जाती, जन्म से ही आती है। ये सनातनी परंपराएं हैं, जो इनसे टकराएगा वो नष्ट हो जाएगा।‘

‘एक अविवेकीय व्यक्ति… कुछ भी बोल देगा’

प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, ‘जब देख तब सैनिकों का अपमान हो जाता है। किसान अन्नदाता है और सैनिक देश की सीमा पर खड़े होकर देश की रक्षा करता है और उसकी भूमिका देश की रक्षा करना है, इसलिए वह देशभक्त है। किसान का काम खेती, किसानी और हमारा पेट भरने का है, हर किसी का अपना-अपना एक स्थान और श्रेष्ठ स्थान होता है।‘

बीजेपी सांसद ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, हर किसी के दिल में राष्ट्र के प्रति सम्मान की भावना होती है, लेकिन ये दोमुंहे लोग कहते हैं कि किसान जरुरी है, किसान सही तो हमें सीमा पर सैनिकों की आवश्यकता नहीं है, कुछ समझ नहीं आता। उन्होंने कहा, एक अविवेकीय व्यक्ति जिसके पास कोई विवेक, बुद्धि और ज्ञान, कोई गणित, कोई इतिहास, संस्कृति, कोई धर्म नहीं, ऐसा विधर्मी व्यक्ति कुछ भी बोल देगा।

गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा पर क्या बोली राजनीतिक पार्टियां?

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply