त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के ज्ञान के पिटारे से , सिविल सेवा सिविल इंजीनियर्स के लिए

आजकल लगता है त्रिपुरा के मुख्यमंत्री कुछ ज़्यादा ही बुद्धिवर्धक चूर्ण का सेवन करने लगे हैं मैं ऐसा इस लिए कह रहा हूँ क्योंकि कुछ महीनों से वो राजनीति छोर ज्ञान बाटने में लगे हुए हैं । अब इसका क्या कारण है मुझे तो नहीं पता हां थोड़े कयास लगा कर कह सकता हूँ कि शायद उन्हें मीडिया के कैमरे से ओझल होने का मन ही नही कर रहा हो .

तभी तो अपने ज्ञान के पिटारे से हर रोज़ एक नई जानकारी निकलते हैं और लोगों के थाली में परोस देते हैं भले सामने वाले के लिए वो ज्ञान किसी काम का न हो । विप्लव देव ने फिर एक ऐसी ही अपने ज्ञान के पिटारे से ताजा ताजा ज्ञान निकला है . वो बता रहे हैं कि किसे सिविल सेवा की तैयारी करनी चाहिए और किसे नहीं .

विप्लव देव के अनुसार सिविल सर्विसेज सिविल इंजीनियर्स के लिए होती है ना कि केमिकल इंजीनियर्स के लिए । द नार्थ ईस्ट टुडे की खबर के मुताबिक 27 अप्रैल को सिविल सर्विस दे के मौके पर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को संबोधित करते हुए उन्होंने अपना ज्ञान बाँटा था । अब साहेब को कौन समझाए की सिविल सर्विस और सिविल इंजीनियर दोनों अलग अलग चीज़े है या यूं कहें कि अगर सिविल सेवा उत्तर है तो सिविल इंजीनियर दक्षिण ।

खैर साहेब तो साहेब ही हैं ये हमेशा अपने ज्ञान के पिटारे को कुछ खाश निकलते हैं और सबसे हट कर निकलते हैं । ऐसे ही पिछले दिनों विप्लव देव ने सौंदर्य प्रतियोगिता के विश्वस्नीयता पर सवाल खड़ा करते हुए डायना हेडेन को मिली ताज की आलोचना करते हुए कहा था कि डायना हेडेन विश्वसुंदरी के लायक नहीं थीं

साहब यहीं नहीं रुके उन्होंने यह भी कह डाला कि सौंदर्य प्रतियोगिता को कॉस्मेटिक और ब्यूटी प्रॉडक्ट वाले बाजार में घुसने का हथकंडा करार है और ऐसे आयोजनों से जुड़े लोगों को मार्केटिंग माफिया तक बता दिया ।

इस घटना के पहले साहब ने कहा था कि इंटरनेट और सेटेलाइट महाभारत काल से ही मौजूद हैं उस समय भी टेलीकास्ट होता था । इस बात को ले कर विप्लव देव की मीडिया में जमकर खिंचाई किया गया था फिर भी साहब अपने ज्ञान के पिटारे से कुछ अनोखा निकलते ही रहते हैं । जय हो ऐसी सरकार की जो अदुभुत ज्ञान बांटते हैं ।

यह भी पढ़ें:

 बीजेपी के 38 साल में 2 से 282 तक पहुँचनें की कहानी

 

Facebook Comments

Rahul Tiwari

राहुल तिवारी 2 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं. वो इंडिया न्यूज़ में भी काम कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *