राहुल गांधी ने पूछा तानाशाहों के नाम M से शुरु क्यों होते हैं? बीजेपी ने किया पलटवार

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन तेज है। किसान दिल्ली के बॉर्डरों पर 2 महीनें से ज्यादा समय से टिके है और सरकार से इसे रद्द करने की मांग कर रहे हैं। विपक्षी पार्टियों की ओर से भी इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाया जा रहा है। बीते दिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड़ से सांसद राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने किसानों के प्रति सरकार की रवैये को लेकर भी सवाल उठाए थे।

 जिसके बाद बीजेपी की ओर से जबरदस्त पलटवार भी देखने को मिला। इसी बीच राहुल गांधी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ऐसा ट्वीट कर दिया, जिसने देश की सियासत में हलचल बढ़ा दी है। उन्होंने ट्वीट पूछा कि दुनिया के अधिकतर तानाशाहों के नाम M अक्षर से ही क्यों शुरू होते हैं? जिस पर केंद्रीय कृषि मंत्री ने पलटवार करते हुए जवाब दिया है।

‘M से मोतीलाल नेहरु का भी नाम आता है

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, ‘राहुल गांधी के बयान को कांग्रेस भी गंभीरता से नहीं लेती। अगर ‘एम’ से शुरू करें तो मोतीलाल नेहरू का भी नाम आता है, इसलिए उन्हें देखकर टिप्पणी करनी चाहिए।’ दरअसल, देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु के पिता का नाम मोतीलाल नेहरु था। जो पेशे से एक वकील थे।

राहुल गांधी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए पूछा, ‘क्यों कई तानाशाहों के नाम ऐसे हैं जो M से शुरू होते हैं? मार्कोस, मुसोलिनी, मिलोसेविच, मुबारक, मोबुतु, मुशर्रफ, माइकॉम्बेरो.’ राहुल का यह ट्वीट वायरल हो गया, जिसके बाद बीजेपी ने प्रहार किया।‘

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के मुद्दे पर नारेबाजी करना AAP सांसदों को पड़ा भारी, 3 सांसद हुए निलंबित

सरकार का काम किसानों को डराना, धमकाना नहीं

यह भी पढ़ें: TMC सांसद नुसरत जहां ने बताया, आखिर क्यों जय श्रीराम के नारे से नाराज हुई थी ममता बनर्जी?

बता दें, बीते दिन बुधवार को कांग्रेस मुख्यालय में राहुल गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस कर कई मुद्दों पर सरकार को घेरा। उन्होंने आंदोलन स्थल को कीले में तब्दील किए जाने पर नाराजगी जताई। राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा, सरकार किलेबंदी क्यों कर रही है? क्या ये किसानों से डरते हैं? क्या किसान दुश्मन हैं? उन्होंने कहा, किसान देश की ताकत है। इनको मारना, धमकाना सरकार का काम नहीं है, सरकार का काम बातचीत करना और समस्या का समाधान निकालना हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि किसान पीछे हटने वाले नहीं है, सरकार को ही पीछे हटना होगा।

यह भी पढ़ें:

पेट्रोल की कीमत पर सुब्रमण्यम स्वामी का तंज, रावण की लंका में कीमत 51 रुपये, राम के भारत में कीमत पहुंची 93 रुपये/लीटर

नए कृषि कानूनों पर किसानों में रोष व्याप्त, 6 फरवरी को देश भर में चक्का जाम करेंगे किसान

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

The Nation First

द नेशन फर्स्ट एक हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है जो देश-दुनिया की खबरों के साथ-साथ राजनीति, मनोरंजन, अपराध, खेल, इतिहास, व्यंग्य से जुड़ी रोचक कहानियां परोसता है.

Leave a Reply