गायों की रक्षा करने का ढ़ोंग करते है योगी आदित्यनाथ, कांग्रेस पार्टी ने उठाए सवाल

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर देश में सियासत चरम पर है। सत्तारुढ़ और विपक्षी पार्टियों के बीच जमकर बयानबाजियां हो रही है। दिल्ली के बॉर्डरों पर पिछले 1 महीने से किसान इस नए कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं। देश के कई अन्य राज्यों में भी किसानों के प्रति सरकार के रवैये को लेकर सुगबुगाहट तेज हो गई है।

इसी कड़ी में बीजेपी शासित यूपी में आगामी विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर तैयारियां भी तेज होती दिख रही है। प्रदेश में गाय और किसानों के मुद्दे पर सियासत का पारा हाई है। बताया जा रहा है कि देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, बीजेपी शासित यूपी में गाय और किसानों को लेकर यात्रा करने वाली थी। यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू का दावा है कि प्रदेश की योगी सरकार उनकी पार्टी को ऐसा करने से रोक रही है। बीते दिन रविवार को उन्होंने गाय की अस्थि कलश के साथ प्रेस कांफ्रेंस की।

सरकारी उदासीनता और चारे की कमी के कारण मर रही गायें’

अजय कुमार लल्लू ने प्रेस कांफ्रेस में कहा कि आज यूपी में अघोषित आपातकाल है। गायों और किसानों को बचाने के लिए कांग्रेस पार्टी यात्रा करना चाहती है तो सरकार आखिर हमें क्यों रोक रही है? बीजेपी शासित यूपी में गायों की दुर्दशा को लेकर यूपी कांग्रेस अध्यक्ष ने योगी सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि आज पूरे प्रदेश में गाय माता सरकारी उदासीनता और चारे की कमी के कारण मर रही हैं। ललितपुर से जो वीडियो आया वह विचलित करने वाला था, मैनपुरी से भी ऐसा ही वीडियो सामने आया था।

उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने पत्र लिखकर सरकार को सुझाव दिया था कि इस पर कार्रवाई करनी चाहिए लेकिन सरकार ने नहीं सुनी। यूपी कांग्रेस अध्यक्ष ने एक गाय का अस्थि कलश दिखाते हुए कहा कि ये अस्थि कलश हम ललितपुर से लाए हैं, जहां गाय माता ने दम तोड़ा था। इसमें वहां की मिट्टी है। उन्होंने कहा कि इस अस्थि कलश को चित्रकूट में मंदाकिनी नदी में विसर्जित करना था, लेकिन सरकार हमें जानें नहीं दे रही। अब सरकार बताए इस अस्थि कलश को कब विसर्जित करना है?

यूपी की योगी सरकार दमन की राजनीति करती है

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने यूपी पुलिस पर बदसलूकी का आरोप लगाते हुए कहा कि शनिवार को सरकार ने उन्हें उठाकर ललितपुर पुलिस लाइन में रखा और उनके साथ आपराधिक व्यक्ति की तरह व्यवहार किया गया। अजय कुमार लल्लू ने कहा, इसके बाद रात को मेरे घर में कैद कर दिया गया, क्या यूपी में किसानों और गौ को बचाने के लिए यात्रा निकालना गुनाह है? योगी जी आप ही सुनिश्चित कर दीजिए कि हम सरकार की नीतियों के खिलाफ कब यात्रा निकालें? बीजेपी जब हैदराबाद और बंगाल में यात्रा निकालती है और सभाएं करती है तो कोई रोक-टोक नहीं है, लेकिन यूपी में कांग्रेस का कोई भी कार्यकर्ता जब आंदोलन करता है तो सरकार दमन की राजनीति करती है।

उन्होंने प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथों लिया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सीएम कभी गुड़ तो कभी गाय को रोटी खिलाते हुए दिखाई पड़ते हैं और फोटो वायरल करके यह साबित करने का ढोंग करते हैं कि गाय की रक्षा के लिए वह प्रतिबद्ध हैं, लेकिन अब उनका असली चेहरा उजागर हो चुका है। यूपी में गाय मर रही हैं। यह बीजेपी वाले सिर्फ गाय माता के नाम का उपयोग कर रहे हैं, पैसे की लूट हो रही है।

गाय को बचाने के लिए कांग्रेस प्रतिबद्ध

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि हमारी पार्टी को गाय से लगाव है, हम उसे माता की संज्ञा देते हैं, यूपी में गाय को बचाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं और हमारी लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि गाय माता को बचाने, उसकी रक्षा और सुरक्षा के लिए कांग्रेस सड़क और सदन दोनों जगह लड़ेगी।

नए कृषि कानूनों पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को बीजेपी की खुली चुनौती

बिहार की वो सांसद जिन्होंने गरीबों के लिए दान कर दी थी अपनी 500 बीघा जमीन

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply