दूसरे के कामों का क्रेडिट ले रही मौजूदा बीजेपी सरकार: मायावती

साल 2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिसे लेकर राजनीतिक पार्टियों ने अभी से ही अपनी तैयारियां तेज कर दी है। आरोप-प्रत्यारोप के दौर शुरु हो गए है क्रेडिट लेने के होड़ भी शुरु हो चुके हैं। इसी बीच यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने प्रदेश की सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने योगी आदित्यनाथ की नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार पर दूसरे के कामों का क्रेडिट लेने का आरोप लगाया। मायावती ने कहा कि जो प्रोजेक्ट उनके द्वारा शुरु किए गए थे अब बीजेपी सरकार उन्हें अपना बताकर जनता के सामने पेश कर रही है।

पहले सपा अब बीजेपी अपनी पीठ थपथपाती है

बसपा प्रमुख ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लगातार कई ट्वीट करते हुए बीजेपी को निशाने पर लिया। उन्होंने अपने पहले ट्वीट में लिखा, ‘यूपी में खासकर गंगा एक्सप्रेस-वे हो या विकास के अन्य प्रोजेक्ट अथवा जेवर में बनने वाला नया एयरपोर्ट, पूरे जग-जाहिर तौर पर ये सभी बीएसपी की मेरी सरकार में ही तैयार किए गए विकास के वे प्रख्यात मॉडल हैं जिसको लेकर पहले सपा व वर्तमान बीजेपी सरकार अपनी पीठ थपथपाती रहती है।‘


यूपी का अधिकांश विकास बीएसपी की सोच का फल है

मायावती ने अपने अगले ट्वीट में कहा कि ‘मेट्रो एवं अयोध्या, वाराणसी, मथुरा, कन्नौज सहित यूपी के प्रचीन व प्रमुख शहरों में बुनियादी जनसुविधाओं की नई स्कीमें व इनको रिकार्ड समय में पूरा करने का काम भी बीएसपी का ही विकास मॉडल है। जो कानून द्वारा कानून के राज के साथ प्राथमिकता में रहा, जिससे सर्वसमाज को लाभ मिला।‘


पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने तीसरे और आखिरी ट्वीट में आरोप लगाया कि ‘इस प्रकार मेरी सरकार के सन 2012 में जाने के बाद यूपी में जो कुछ भी थोड़ा विकास संभव हुआ है वे अधिकांश बीएसपी की सोच के ही फल हैं। मेरी सरकार में ये काम और अधिक तेजी से होते अगर तब कांग्रेस की रही केन्द्र सरकार पर्यावराण आदि के नाम पर राजनीतिक स्वार्थ की अड़ंगेबाजी नहीं करती।‘

कृषि कानूनों को लेकर विपक्षी पार्टियों पर बरसे पीएम मोदी, कहा- किसानों को भ्रमित करना छोड़ दें

कमलनाथ सरकार गिराने में मोदी जी की अहम भूमिका थी: कैलाश विजयवर्गीय

बिहार के दिग्गज नेताओं ने उठाए सवाल, आखिर कहां गायब हो गए तेजस्वी यादव?

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *