किसान हमारे दिल में बसते हैं वो हमारे अपने है, किसी के बहकावे में न आएं- शाहनवाज हुसैन

किसान आंदोलन को लेकर देश की सियासत में अफरा-तफरी का माहौल है। दिल्ली के बॉर्डरों पर किसान पिछले 80 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। अभी तक लगभग 200 किसानों के मौत की खबर भी सामने आई है। विपक्षी पार्टियां इस मामले को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड़ से सांसद राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार को निशाने पर ले रहे हैं।

वहीं, सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी की ओर से भी किसान आंदोलन को लेकर तरह-तरह की टिप्पणी की जा रही है। पिछले दिनों एक बीजेपी सांसद ने कहा था कि किसान आंदोलन में एके-47 लेकर आतंकवादी बैठे हैं। इसी बीच बीजेपी के दिग्गज नेता और बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि किसान हमारे दिल में बसते हैं, वो हमारे अपने हैं, किसी के बहकावे में न आए।

शाहनवाज हुसैन का पूरा बयान

बीते दिन शुक्रवार को बीजेपी कार्यालय में शाहनवाज हुसैन ने यह बात कही। उन्होंने कहा, ‘किसानों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने संसद में विस्तार से बातचीत की है और वही हमारी पार्टी और सरकार का रुख है। किसान हमारे दिल में बसते हैं, वो हमारे अपने हैं और वो किसी के बहकावे में ना आएं, जो भी कानून सरकार ने बनाया है वो उनके हित में बनाया है।’

उन्होंने कहा, ‘मैंने किसानों के साथ चर्चा में कई बार कहा है कि ना मंडी और आढ़त खत्म होगी और ना ही एमएसपी खत्म होगी। अभी लोग कहते हैं कि सरकार बहुत अडिग है लेकिन सरकार तो चार कदम बढ़ी है। हमने कहा कि हम डेढ़ साल के लिए कानूनों को स्थगित करते हैं। आपसे विचार-विमर्श करके कानून बनाएंगे। अब हर चीज पर शर्तें लादने से बातचीत नहीं होती। बातचीत का मतलब होता है बातचीत। इकतरफा बातचीत को बातचीत नहीं कहते।’

राहुल गांधी पर बोला हमला

शाहनवाज हुसैन ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा पीएम को लेकर की गई टिप्पणी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, जिस तरह के शब्द राहुल गांधी बोलते हैं काश वो चिंता करें कि क्या प्रधानमंत्री के लिये ऐसे शब्दों का उपयोग सही है। गौरतलब है कि भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला था।

बीते शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राहुल गांधी ने कहा था कि ‘प्रधानमंत्री एक कायर हैं, जो चीन के खिलाफ खड़े नहीं हो सकते। वे हमारी सेना के जवानों के बलिदान पर थूक रहे हैं। वे सेना के बलिदान को धोखा दे रहे हैं। भारत में किसी को भी ऐसा करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए, प्रधानमंत्री इस पर क्यों नहीं बोल रहे हैं।‘ उन्होंने कहा था कि पैंगोग को लेकर हुई करार में जीत हमारी नहीं, बल्कि चीन की हुई है और हमारी सेना पीछे हटी है। पीएम मोदी ने चीन के सामने मत्था टेक दिया और देश का सिर झुका दिया।

यह भी पढ़ें:

Bengal Elections: कांग्रेस के दिग्गज नेता का बयान, आगामी चुनाव में BJP का मुकाबला नहीं कर सकती TMC

शिकागो यूनिवर्सिटी से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘ट्रोल्स मेरी समझ को तेज करते हैं मेरे मार्गदर्शक जैसे हैं’

अयोध्या राम मदिर: कोरोना के कहर बावजूद राम मंदिर के लिए सिर्फ 27 दिनों में 1,500 करोड़ का मिला अनुदान

पढ़िए, बीजेपी में शामिल होने की संभावनाओं पर क्या बोले गुलाम नबी आजाद

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply