आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को होगी फांसी, गुनाह ऐसी है की रूह कांप जायेगी

आजाद भारत के इतिहास में पहली बार किसी महिला को फांसी के फंदे पर लटकाए जाने की तैयारी है. मथुरा जेल प्रशासन ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है. फांसी अमरोहा की रहने वाली शबनम को दी जानी है. जिसकी गुनाह आप सुनेंगे तो आपकी रूह कांप उठेगी और आपका जहन ये सवाल करने को मजबूर हो जाएगा कि ऐसा गुनाह एक महिला कैसे कर सकती है!

दरअसल, ये कहानी है बेमेल प्रेम की जिसने खूनी रूप अख्तियार कर लिया. ये कहानी है शबनम और सलीम के इश्क की जो उसे फांसी के फंदे के करीब ले आई है. 14 अप्रैल, 2008 की रात को शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर माता-पिता और मासूम भतीजे समेत परिवार के सात लोगों का कुल्हाड़ी से गला काट कर मौत के घाट उतार दिया था. शबनम ने कोर्ट में कहा कि ये लोग उसके प्यार की राह में रोड़ा बन रहे थे.

यह मामला अमरोहा कोर्ट में लगभग दो साल तक चला. जिसके बाद 15 जुलाई 2010 को जिला जज एसएए हुसैनी ने शबनम और सलीम को हैंग टिल डेथ (जान निकलने तक फांसी के फंदे पर लटकाया जाए) का फैसला सुनाया.

कैसे पता चला ?

शबनम और उसके प्रेमी सलीम पर किसी का ध्यान नही जाता लेकिन पुलिस तहकीकात में वारदात में इस्तेमाल हुई कुल्हाड़ी सलीम के पास से मिली . दोनों के खून से सने कपड़े मिले. तीन सिम भी उनके पास से मिली थी, जिसपर अलग-अलग समय पर दोनों ने वारदात को अंजाम देने की बात की थी.

इस केस में करीब 100 तारीखों तक जिरह चली. इसमें 27 महीने लगे. फैसले के दिन जज ने 29 गवाहों को बयान सुने. 14 जुलाई 2010 जज ने दोनों को दोषी करार दिया था. अगले दिन 15 जुलाई 2010 को जज एसएए हुसैनी ने सिर्फ 29 सेकेंड में दोनों को फांसी की सजा सुना दी. इस मामले में 29 लोगों से 649 सवाल पूछे गए. 160 पन्नों में फैसला लिखा गया. तीन जजों ने पूरे मामलों की सुनवाई की.

कैसे पहुंचे हवालात में?

वारदात को अंजाम देने के बाद पकड़े जाने पर शबनम और सलीम ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए थे. सर्विलांस से दोनों के बीच बातचीत का पता चला. फिर शबनम के पास दवा का खाली रैपर मिला था और फॉरेंसिक रिपोर्ट भी आई थी. शबनम की भाभी अंजुम के पिता लाल मोहम्मद ने कोर्ट में सलीम से उसके अवैध संबंध के बारे में बताया था. सलीम ने घटना को अंजाम देने के बाद हसनपुर ब्लॉक प्रमुख महेंद्र पास गया था और अपनी करतूत बताई थी.

यह भी पढ़ें:

दुनिया का एक मात्र क्रिकेटर जिसे फांसी पर लटका दिया गया, क्या थी वजह?

युवराज सिंह की बढ़ी मुश्किलें…दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए क्या है पूरा मामला ?

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

The Nation First

द नेशन फर्स्ट एक हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है जो देश-दुनिया की खबरों के साथ-साथ राजनीति, मनोरंजन, अपराध, खेल, इतिहास, व्यंग्य से जुड़ी रोचक कहानियां परोसता है.

Leave a Reply