हरियाणा में बीजेपी को लगा बड़ा झटका, किसानों के समर्थन में 3 बार विधायक रह चुके नेता ने छोड़ी पार्टी

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर देश में तनाव का माहौल है। राजधानी दिल्ली के बॉर्डरों पर किसान इस कानून के विरोध में लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। पिछले दिनों गणतंत्र दिवस के अवसर पर हुए ट्रैक्टर परेड में हिंसा और तोड़-फोड़ जैसी घटनाएं सामने आई थी। जिसके बाद कई किसान संगठनों ने अपना आंदोलन खत्म कर दिया था। सीमा पर भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती हो गई थी।

जिसके बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई थी कि सरकार जल्द ही आंदोलन खत्म करा सकती है। इस मामले को लेकर विपक्षी पार्टियों ने एकजुट होकर सरकार पर धावा बोल दिया। बताया जा रहा है कि किसान बॉर्डर पर फिर से एकजुट हो रहे हैं और आंदोलन आगे भी जारी रहने वाला है। इसी बीच हरियाणा में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। हरियाणा के बड़े नेता और पूर्व मुख्य संसदीय सचिव ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

‘मैं पूरी तरह से कानून का विरोध कर रहे किसानों के साथ

तीन बार के विधायक रह चुके बीजेपी नेता रामपाल माजरा ने बीते दिन गुरुवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ एकजुटता दिखाते हुए यह कदम उठाया। रामपाल माजरा ने कहा, “मैं पूरी तरह से इन कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के साथ खड़ा हूं। मुझे लगता है कि ये कानून न केवल किसान विरोधी हैं बल्कि इसे अगर लागू किया जाता है तो इसका समाज के अन्य वर्गों पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।‘

राकेश टिकैत समेत कई किसान नेताओं से होगी पूछताछ

बता दें, रामपाल माजरा हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले हरियाणा की क्षेत्रीय पार्टी इनेलो से बीजेपी में शामिल हुए थे। वह तीन बार विधायक भी रह चुके हैं। उन्होंने पिछले साल सितंबर में केंद्र के कृषि कानूनों को ‘किसान विरोधी’ करार दिया था। उन्होंने कहा था कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को लेकर आशंकाएं निराधार नहीं हैं।

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को लेकर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही है। कुछ लोग इसे सरकार का करा-धरा बता रहे हैं तो वहीं, कुछ लोग इसके लिए किसानों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। बताया जा रहा है कि किसान नेता राकेश टिकैत समेत अन्य भी कई नेताओं को क्राइम ब्रांच की टीम आज पूछताछ के लिए बुला सकती है।

जिस व्यक्ति पर देश का बच्चा-बच्चा हंसता है, उसे प्रधानमंत्री बनाने का सपना देखती है उसकी अम्मा- प्रज्ञा सिंह

गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा पर क्या बोली राजनीतिक पार्टियां?

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply